1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. Afghanistan: तालिबान क्रूरता करने से बाज़ नहीं आ रहा, स्पिन बोल्डक में सरकारी कर्मचारियों को मौत के घाट उतारा

Afghanistan: तालिबान क्रूरता करने से बाज़ नहीं आ रहा, स्पिन बोल्डक में सरकारी कर्मचारियों को मौत के घाट उतारा

अफगानिस्तान में तालिबान की क्रूरता बढ़ती ही जा रही है। अफगानिस्तान में तालिबान ने अपनी लड़ाई तेज कर दी है। तालिबान की बढ़ती क्ररता की निंदा पूरे विश्व में हो रही है। अब अमेरिका और ब्रिटेन ने तालिबान को आगाह कर रहे है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Afghanistan: अफगानिस्तान में तालिबान की क्रूरता बढ़ती ही जा रही है। अफगानिस्तान में तालिबान ने अपनी लड़ाई तेज कर दी है। तालिबान की बढ़ती क्रूरता (cruelty) की निंदा पूरे विश्व में हो रही है। अब अमेरिका और ब्रिटेन ने तालिबान को आगाह कर रहे है।अमेरिका (America) (UK)और ब्रिटेन ने तालिबान पर कंधार शहर में नागरिकों (Kandahar City)की हत्या करने का आरोप लगाया था, जिसे उन्होंने हाल ही में पाकिस्तानी की सीमा के पास कब्जा कर लिया था। वाशिंगटन और लंदन के दूतावासों (Embassies) ने सोमवार को अलग-अलग ट्वीट में स्पिन बोल्डक (Spin Boldak) में हुए कथित अत्याचारों को लेकर कहा कि तालिबान ने बदला लेने के लिए दर्जनों नागरिकों का कत्लेआम किया। ये हत्याएं युद्ध अपराध बन सकती हैं।

पढ़ें :- अफगानिस्तान में Taliban को मान्यता देने के लिए चीन बेचैन , कही- ये बड़ी बात
Jai Ho India App Panchang

अमेरिका और ब्रिटेन ने कहा कि तालिबान के नेतृत्व को उनके लड़ाकों के अपराधों के लिए जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। यदि आप अपने लड़ाकों को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं, तो बाद में शासन चलाने में आपका कोई अधिकार नहीं होना चाहिए।

मीडिया रिपोर्ट के मुूताबिक, दोहा स्थित तालिबान वार्ता दल के सदस्य सुहैल शाहीन ने कहा कि नागरिकों की हत्या वाले ट्वीट निराधार हैं। अमेरिका और ब्रिटेन की निंदा ऐसे समय पर आई है, जब अफगानिस्तान के स्वतंत्र मानवाधिकार आयोग ने भी ये कहा कि तालिबान लड़ाकों ने स्पिन बोल्डक में बदला लेने के लिए हत्याएं की हैं।

खबरों के अनुसार,स्वतंत्र मानवाधिकार आयोग ने कहा कि स्पिन बोल्डक डिस्ट्रिक्ट पर कब्जा जमाने के बाद कम से कम 40 लोगों की तालिबान ने हत्या की है।

इसी बीच, तालिबान लड़ाके लश्कर गाह, कंधार और हेरात में अफगान सुरक्षा बलों के साथ युद्ध लड़ रहे हैं। कई दिनों से जारी युद्ध की वजह से हजारों की संख्या में नागरिक भाग गए हैं। अफगानिस्तान में मई के बाद से ही युद्ध तेज हो गया है। अमेरिकी और विदेशी बलों की वापसी का तालिबान ने जमकर फायदा उठाया है।

पढ़ें :- Afghanistan News: सभी गुटों को शामिल करें नहीं तो होगा गृहयुद्ध, इमरान खान ने तालिबान को दी चेतावनी

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...