अफगानिस्तान के इस हिस्से में नहीं पहुंच पाई अमेरिकी सेना, न ही चला तालिबान का राज

काबुल| तालिबानी कानून का नाम सुनते ही मन में एक खौफनाक तस्वीर उभरकर सामने आती है| तालिबानी हुकूमत का शासन पूरे अफगानिस्तान पर रहा| इस दौरान लोगों पर बेइंतहां जुल्म ढाये गए| लोग हमेशा डर के साए में ही रहे लेकिन यहां एक इलाका इस भी है तालिबानियों का राज नहीं चला| इतना यही नहीं अमेरिकी सेना भी यहां तक नहीं पहुंच पाई| वाखान कॉरिडोर के नाम से मशहूर इस क्षेत्र के लोगों पर न तो कभी तालिबानी कानून लागू हुआ और न ही वहां लोगों पर जुल्म ढाये गए| लोग यहां आराम से हंसी खुशी अपनी जिंदगी बिता रहे हैं|



afghan-people_7_148145273

तालिबानी आंदोलन की शुरुआत 1994 में दक्षिणी अफगानिस्तान से हुई थी| साल 1996 से 2001 तक अफगानिस्तान पर तालिबानियों ने राज किया| इस दौरान अफगानियों पर कई तरह के जुल्म ढाए गए और महिलाओं का शोषण हुआ| जुलाई 2010 अफगानिस्तान में 15 और 17 साल की दो बहनों की हत्या कर दी गई सिर्फ इसलिए क्योंकि बड़ी बहन ने एक बूढ़े आदमी के साथ शादी करने से इंकार कर दिया| दूल्हा बनने जा रहे शख्स और ससुर को 16 साल के जेल की सजा हुई और तीन दूसरे लोगों को छोड़ दिया गया|



afghan-people_6_148145273

यहीं के एक प्रांत में दो लड़कियों को 60 साल के एक इंसान ने गर्भवती बना दिया| इस धार्मिक नेता पर अवैध संबंध के आरोप लगे लेकिन अपील कोर्ट ने महिलाओं के खिलाफ अपराध रोकने के लिए बनाए गए कानून के तहत इसकी सुनवाई से इनकार कर दिया| इसी तरह कंधार प्रांत की एक महिला ने शिकायत की कि उसकी बेटी को आत्महत्या करने पर मजबूर किया गया| उसका कहना था कि उसकी बेटी को शादी के लिए बेच दिया गया और फिर शादी के 10 साल बाद उसने खुदकुशी कर ली|उसके ससुराल वालों ने उसे तीन लोगों के साथ सेक्स करने पर मजबूर किया|
afghan-people_4_148145273afghan-people_14_14814527afghan-people_12_14814527

अफगानिस्तान में महिलाओं के खिलाफ इस तरह के अपराधों की फेहरिश्त बहुत लंबी है लेकिन वाखान कॉरिडोर तक इनका सरिया कानून नहीं पहुंच सका| 12 हजार लोगों का यह इलाका 45 सौ मीटर में फैला हुआ है| यहां रहने वाले सभी लोग अपनी मर्जी की जिंदगी जीते हैं। वाखान के लोगों की लाइफ बहुत ही सिंपल है| हालांकि वहां संसाधनों की कमी है बावजूद इसके लोग मस्ती में अपनी जिंदगी बिता रहे हैं| हाल ही में अफगान सरकार ने इस क्षेत्र को टूरिज्म के लिए डेवलप करना शुरू किया है| कुछ समय पहले फ्रेंच फोटोग्राफर एरिक ने इस क्षेत्र का दौरा किया था और वहां की खूबसूरती को अपने कैमरे में कैद किया|