1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. Afghanistan : तालिबान का नया फरमान, कोर्ट के हुक्म के बिना सरेआम लोगों को मारकर न लटकाएं

Afghanistan : तालिबान का नया फरमान, कोर्ट के हुक्म के बिना सरेआम लोगों को मारकर न लटकाएं

अफगानिस्तान की सत्ता पर नियंत्रण करने के बाद तालिबान हुकूमत की क्रूरता के किस्से पूरी दुनिया में मानवता को शर्मशार कर रहे है। Afghanistan ,Taliban,

By अनूप कुमार 
Updated Date

काबुल: अफगानिस्तान की सत्ता पर नियंत्रण करने के बाद तालिबान हुकूमत की क्रूरता के किस्से पूरी दुनिया में मानवता को शर्मशार कर रहे है।अफगानिस्तान में आम नागरिकों में डर का माहौल है।वहां लोगों को आजादी और अधिकारों की चिंता सता रही है। हालांकि, तालिबान की ओर से यह संकेत दिया गया है कि नई सरकार पिछली सरकार की तुलना में उदार होगी। इस बीच तालिबान ने स्थानीय अधिकारियों को निर्देश दिया है कि जब तक अफगानिस्तान की “शीर्ष अदालत” सार्वजनिक रूप से फांसी का आदेश नहीं देती है तब तक वे सरेआम सजा देने से बचें।

पढ़ें :- Afghanistan: कभी भी ठप हो सकता है अफगानिस्तान का बैंकिंग सिस्टम, वित्तीय प्रणाली बचाने पर दिया जाना चाहिए जोर

तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने एक ट्वीट में कहा, “मंत्रिपरिषद ने फैसला किया है कि जब तक दोषी को सार्वजनिक करने की जरूरत नहीं हो और जब तक अदालत आदेश जारी नहीं करती है, तब तक सार्वजनिक रूप से कोई सजा नहीं दी जाएगी।”

बीते दिनों अफगानिस्तान में लोगों को सरेआम मारकर लटकाने या कोड़े मारने की घटनाएं देखने को मिली। इनके वीडियो वायरल होने के बाद तालिबान की छवि को काफी नुकसान पहुंचा है।

बता दें कि पिछले महीने अमेरिका ने अंगविच्छेद और फांसी को अफगानिस्तान में सजा के रूप में बहाल करने की तालिबान की योजना की कड़ी निंदा की थी। अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका अफगान के लोगों खासकर अल्पसंख्यक समूहों के सदस्यों के साथ खड़ा है और मांग करता है कि तालिबान से इस तरह के किसी भी अत्याचारी दुर्व्यवहार को तुरंत बंद कर दे।

पढ़ें :- Afghanistan : अमेरिकी वाहन और रूसी हेलीकॉप्टर से निकाली परेड, छवि बदलने की कोशिश जुटा तालिबान
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...