1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. Afghanistan: कभी भी ठप हो सकता है अफगानिस्तान का बैंकिंग सिस्टम, वित्तीय प्रणाली बचाने पर दिया जाना चाहिए जोर

Afghanistan: कभी भी ठप हो सकता है अफगानिस्तान का बैंकिंग सिस्टम, वित्तीय प्रणाली बचाने पर दिया जाना चाहिए जोर

तालिबान ने अफगानिस्तान पर बंदूखों के बल पर कब्जा तो कर लिया लेकिन वहां के हालात और खराब हो गए। खने पीने की वस्तुओं के अभाव में वहां नागरिक भूखे रहने ​को मजबूर है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Afghanistan: तालिबान (Taliban) ने अफगानिस्तान पर बंदूखों के बल पर कब्जा तो कर लिया लेकिन वहां के हालात (circumstances)और खराब हो गए। वहां खानेपीने की वस्तुओं के अभाव में  नागरिक भूखे रहने ​को मजबूर है। खबरों के मुतबिक, इस देश का बैंकिंग सिस्टम (banking system) कभी भी ध्वस्त हो सकता है। संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने सोमवार को अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि तालिबान के कब्जे के बाद से अफगानिस्तान में बैंकिंग (banking in afghanistan) और फाइनेंशियल सिस्टम ध्वस्त होने की कगार पर पहुंच गए हैं। ऐसे में अफगानिस्तान के बैंकों को बढ़ावा देने के लिए तत्काल कार्रवाई करने पर जोर दिया जाना चाहिए।

पढ़ें :- Afghanistan : अमेरिकी वाहन और रूसी हेलीकॉप्टर से निकाली परेड, छवि बदलने की कोशिश जुटा तालिबान

कुछ अहम मुददों के कारण संयुक्त राष्ट्र संघ को लग रहा है कि अफगानिस्तान की वित्तीय प्रणाली (financial system) कुछ महीनों के भीतर ध्वस्त हो सकती ​है। नकदी की कमी और लोगों के द्वाराकर्ज न चुका पाने की वजह से वहां के हालात बदतर हो सकते है।

अफगानिस्तान में तालिबान के अगस्त में सत्ता सम्भालने के बाद उपजी अनिश्चितता के कारण अचानक पीछे हटे विदेशी निवेश ने वहां की अर्थव्यवस्था को फ्रीफॉल में ले जाने का कार्य किया

UNDP की रिपोर्ट के अनुसार, ‘अफगानिस्तान की वित्तीय और बैंक भुगतान प्रणाली चरमरा गई है, अफगानिस्तान की सीमित उत्पादन क्षमता में सुधार और बैंकिंग प्रणाली को ध्वस्त होने से बचाने के लिए बैंक द्वारा संचालित समस्या का शीघ्र समाधान किया जाना चाहिए।

पढ़ें :- Afghanistan Breaking: तालिबान को लगा बड़ा झटका, आतंकी संगठन IS ने मेन कमांडर को मार गिराया
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...