1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. Afghanistan Taliban war: तालिबान ने लोगार पर किया कब्जा, मजार-ए-शरीफ पर ताबड़तोड़ हमला जारी

Afghanistan Taliban war: तालिबान ने लोगार पर किया कब्जा, मजार-ए-शरीफ पर ताबड़तोड़ हमला जारी

अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) तेजी से कब्जा कर रहा है। तालिबान आतंकियों ने कंधार तक आपने पांव जमा लिए है। खबरों के अनुसार, आतंकियों ने कंधार में एक रोडियो स्टेशन पर भी कब्जा कर लिया है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

काबुल: अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) तेजी से कब्जा कर रहा है। तालिबान आतंकियों ने कंधार तक आपने पांव जमा लिए है। खबरों के अनुसार, आतंकियों ने कंधार में एक रोडियो स्टेशन पर भी कब्जा कर लिया है।तालिबान ने लोगार प्रांत में भी कब्जा कर लिया है।यह राजधानी काबुल से कुछ ही दूरी पर दक्षिण में स्थित है। साथ ही बीते शनिवार को विद्रोहियों की दस्तक काबुल (Kabul) के एक जिले में भी हो गई है। साथ ही शनिवार को विद्रोहियों ने मजार-ए-शरीफ (mazar-i-sharif) पर भी हमले शुरू कर दिए हैं।

पढ़ें :- Afghanistan-Taliban War: जानिए कितना कैश लेकर काबुल से भागे थे राष्ट्रपति अशरफ गनी, रिपोर्ट में दावा

उग्रवादी संगठन नें शनिवार को कंधार में एक रेडियो स्टेशन पर कब्जा कर लिया। चरमपथियों ने रेडियो का नाम बदलकर ‘वॉइस ऑफ शरिया’ (Voice of Sharia) कर दिया है।

उग्रवादी संगठन हाल के हफ्तों में उत्तर, पश्चिम और दक्षिण अफगानिस्तान के कई हिस्सों में काबिज हो चुका है और पश्चिमी देशों द्वारा समर्थित सरकार के अधिकार में काबुल के अलावा मध्य और पूर्व में कुछ ही प्रांत ही बचे हैं। हाल ही में तालिबान ने अपने कार्रवाई तेज कर 34 में से 18 प्रांतों पर कब्जा जमाया है। देश और दुनिया में काबुल की ओर बढ़ते विद्रोहियों के कदम चिंता का विषय बने हुए हैं।अफगानिस्तान से अमेरिका सेंना की पूर्णतय: वापसी में तीन सप्ताह से भी कम समय शेष बचा है और ऐसे में तालिबान ने उत्तरी, पश्चिमी और दक्षिणी अफगानिस्तान के अधिकतर हिस्सों पर कब्जा कर लिया है।

तालिबान कई वर्षों से सचल रेडियो स्टेशन संचालित करता आ रहा है, लेकिन प्रमुख शहर में उसका रेडियो स्टेशन पहले कभी नहीं रहा। वह ‘वॉइस ऑफ शरिया’ नाम का स्टेशन चलाता था जिसमें संगीत पर पाबंदी थी। तालिबान के शासन के डर से हजारों लोगों ने अफगानिस्तान छोड़ दिया है। इससे पहले भी ये विद्रोही देश पर शासन कर चुके हैं, जहां कई तरह की पाबंदियां लागू थी।

पढ़ें :- Afghanistan-Taliban War: जानिए अब्‍दुल गनी बरादर के बारे में, जो अफगानिस्तान का हो सकता है अगला राष्ट्रपति?
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...