पाकिस्तान को मिलेगा करारा जवाब, बॉर्डर पर एयर डिफेंस यूनिट तैनात करेगा भारत

army
पाकिस्तान को मिलेगा करारा जवाब, बॉर्डर पर एयर डिफेंस यूनिट तैनात करेगा भारत

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव है. हाल ही के समय में सीमा पर तनाव भले ही कम हुआ हो लेकिन भारत अभी भी पाकिस्तान पर भरोसा नहीं कर रहा है।

After Balakot Air Strike Indian Army To Move Air Defence Unit Closer To Pakistan Border :

इसलिए भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर, पंजाब, गुजरात और राजस्थान की एयर डिफेंस यूनिट को पाकिस्तान के साथ लगे बॉर्डर पर तैनात करने का फैसला लिया है। इस फैसले की वजह दोनों मुल्कों के बीच बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद कायम सैन्य-तनाव है। ताजा तैनाती का मकसद सीमा पार से किसी भी हवाई सैन्य कार्रवाई से प्रभावी ढंग से निपटना है।

जम्‍मू कश्‍मीर से लेकर राजस्‍थान तक मिसाइलें

सूत्र ने बताया कि, ‘एयर डिफेंस और दूसरी जरूरी रक्षात्‍मक यूनिट्स को बॉर्डर के करीब करने की योजना बनाई गई है।’ इन एयर डिफेंस यूनिट्स के बॉर्डर के करीब डेप्‍लॉयमेंट के बाद दुश्‍मन की तरफ से होने वाले किसी भी तरह के संभावित हवाई हमले का जवाब दे पाएगी और किसी भी बॉर्डर के करीब किसी भी खतरे को रोक पाएगी। सूत्रों ने बताया है कि जम्‍मू कश्‍मीर, पंजाब, गुजरात और राजस्‍थान से सटे पाक बॉर्डर के करीब एयर डिफेंस यूनिट्स को डेप्‍लॉय किया जाएगा।

सेना ने इन सब जगहों का सर्वे किया है और सेना का मानना है कि कुछ एयर डिफेंस यूनिट्स को फॉरवर्ड लोकेशंस पर भेजा जा सकता है। सेना के पास इस समय देश में निर्मित आकाश एयर डिफेंस मिसाइल सिस्‍टम के अलावा रूस का क्‍वाड्रैट और दूसरे पुराने एयर डिफेंस सिस्‍टम है। इसके अलावा सेना को जल्‍द ही लेटेस्‍ट टेक्‍नोलॉजी से लैसएमआर-सैम एयर डिफेंस सिस्‍टम मिलने वाला है। इस सिस्‍टम को भारत और इजरायल ने मिलकर डेवलप किया है।

सीमा पार तैनात हैं पाक की तीन ब्रिगेड

आईएएफ की एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने पीओके के समीप सीमा पर अपनी सेना की आमद बढ़ा दी। हालांकि, कुछ समय बाद उसने इस तैनाती में कटौती की लेकिन अभी भी 124 आर्मर्ड ब्रिगेड, 125 आर्मर्ड ब्रिगेड और 8 और 15 डिवीजन की सीमा से वापसी नहीं हुई है। पाकिस्तानी सेना के ये दस्ते अभी भी वहां मौजूद हैं।

इस इलाके में पाकिस्तानी सेना की 30 कोर की मदद के लिए वहां एक स्वतंत्र रूप से आर्मर्ड ब्रिगेड मौजूद है। रिपोर्ट में सराकारी सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि पाकिस्तान ने सीमा पर सैन्य टुकड़ियों की जो आक्रामक संरचना तैयार की है, इसमें उसकी मदद उसकी थल सेना ने की होगी।

मारक हथियारों से लैस

बता दें कि भारत की एयर डिफेंस यूनिट की अगुआई इन दिनों लेफ्टिनेंट जनरल एपी सिंह कर रहे हैं। इन यूनिट्स में भारत और इस्राइल की मदद से तैयार MR-SAM, आकाश एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम, बोफोर्स 40 mm गन और अन्य कारगर और आजमाए हुए मारक हथियार हैं।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव है. हाल ही के समय में सीमा पर तनाव भले ही कम हुआ हो लेकिन भारत अभी भी पाकिस्तान पर भरोसा नहीं कर रहा है। इसलिए भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर, पंजाब, गुजरात और राजस्थान की एयर डिफेंस यूनिट को पाकिस्तान के साथ लगे बॉर्डर पर तैनात करने का फैसला लिया है। इस फैसले की वजह दोनों मुल्कों के बीच बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद कायम सैन्य-तनाव है। ताजा तैनाती का मकसद सीमा पार से किसी भी हवाई सैन्य कार्रवाई से प्रभावी ढंग से निपटना है। जम्‍मू कश्‍मीर से लेकर राजस्‍थान तक मिसाइलें सूत्र ने बताया कि, 'एयर डिफेंस और दूसरी जरूरी रक्षात्‍मक यूनिट्स को बॉर्डर के करीब करने की योजना बनाई गई है।' इन एयर डिफेंस यूनिट्स के बॉर्डर के करीब डेप्‍लॉयमेंट के बाद दुश्‍मन की तरफ से होने वाले किसी भी तरह के संभावित हवाई हमले का जवाब दे पाएगी और किसी भी बॉर्डर के करीब किसी भी खतरे को रोक पाएगी। सूत्रों ने बताया है कि जम्‍मू कश्‍मीर, पंजाब, गुजरात और राजस्‍थान से सटे पाक बॉर्डर के करीब एयर डिफेंस यूनिट्स को डेप्‍लॉय किया जाएगा। सेना ने इन सब जगहों का सर्वे किया है और सेना का मानना है कि कुछ एयर डिफेंस यूनिट्स को फॉरवर्ड लोकेशंस पर भेजा जा सकता है। सेना के पास इस समय देश में निर्मित आकाश एयर डिफेंस मिसाइल सिस्‍टम के अलावा रूस का क्‍वाड्रैट और दूसरे पुराने एयर डिफेंस सिस्‍टम है। इसके अलावा सेना को जल्‍द ही लेटेस्‍ट टेक्‍नोलॉजी से लैसएमआर-सैम एयर डिफेंस सिस्‍टम मिलने वाला है। इस सिस्‍टम को भारत और इजरायल ने मिलकर डेवलप किया है। सीमा पार तैनात हैं पाक की तीन ब्रिगेड आईएएफ की एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने पीओके के समीप सीमा पर अपनी सेना की आमद बढ़ा दी। हालांकि, कुछ समय बाद उसने इस तैनाती में कटौती की लेकिन अभी भी 124 आर्मर्ड ब्रिगेड, 125 आर्मर्ड ब्रिगेड और 8 और 15 डिवीजन की सीमा से वापसी नहीं हुई है। पाकिस्तानी सेना के ये दस्ते अभी भी वहां मौजूद हैं। इस इलाके में पाकिस्तानी सेना की 30 कोर की मदद के लिए वहां एक स्वतंत्र रूप से आर्मर्ड ब्रिगेड मौजूद है। रिपोर्ट में सराकारी सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि पाकिस्तान ने सीमा पर सैन्य टुकड़ियों की जो आक्रामक संरचना तैयार की है, इसमें उसकी मदद उसकी थल सेना ने की होगी। मारक हथियारों से लैस बता दें कि भारत की एयर डिफेंस यूनिट की अगुआई इन दिनों लेफ्टिनेंट जनरल एपी सिंह कर रहे हैं। इन यूनिट्स में भारत और इस्राइल की मदद से तैयार MR-SAM, आकाश एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम, बोफोर्स 40 mm गन और अन्य कारगर और आजमाए हुए मारक हथियार हैं।