बिहार से गुजरात विधानसभा चुनाव में पहुंची DNA पॉलिटिक्स

बिहार से गुजरात विधानसभा चुनावों में पहुंची DNA पॉलिटिक्स

अहमदाबाद। गुजरात कांग्रेस के बड़े नेता शक्ति सिंह गोहिल द्वारा सोमवार को सेक्स सीडीकांड में बद्नामी झेल रहे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल में सरदार पटेल का डीएनए होने की बात कहे जाने के बाद पूरे गुजरात में भाजपाई नेता उनका पुतला फूंक रहे हैं। देश के सबसे विकसित राज्य के रूप में पहचान रखने वाले गुजरात में होने वाला विधानसभा चुनाव भी देश का सबसे गंदी राजनीति वाला चुनाव होता नजर आ रहा है। जो गुजरात दशकों से विकास जैसे मुद्दे पर अपनी सरकारें तय करता आ रहा था। उसी गुजरात में आरक्षण और जातिवाद की राजनीति पहले से जगह बना चुकी थी, लेकिन चुनाव के करीब आते—आते सेक्स सीडी और डीएनए पर होने वाली राजनीति भी खूब सुर्खियां बटोर रही है।

मंगलवार की सुबह से ही गुजरात में भाजपा के नेताओं ने शक्ति सिंह गोहिल के बयान के विरोध में प्रदेश भर में प्रदर्शन किया और उनका पुतला फूंका गया। भाजपा ने गोहिल के बयान की निंदा करते हुए हार्दिक पटेल को भारत रत्न सरदार पटेल का वंशज करार दिए जाने पर मांफी मांगने को कहा है। भाजपा का आरोप है कि सरदार पटेल की तुलना सेक्स सकेंडल में फंसे हार्दिक पटेल जैसे चरित्रहीन व्यक्ति से करने पर शक्ति सिंह गोहिल और कांग्रेस को गुजरात ही नहीं बल्कि पूरे देश से मांफी मांगनी चाहिए।

{ यह भी पढ़ें:- लालू प्रसाद यादव का पीएम मोदी पर निशाना, 'पहले लोग शेर से डरते थे और अब गाय से' }

इससे पहले बिहार के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के एक बयान में नीतीश कुमार के डीएनए पर उठाए गए सवाल पर जमकर हंगामा कटा था। बिहार की जनता ने उस बयान को बिहार की अस्मिता से जोड़कर लाखों की संख्या में अपने डीएनए सैंपल प्रधानमंत्री को भेजे थे। अब गुजरात में हार्दिक पटेल के डीएनए को सरदार पटेल के डीएनए से जोड़कर कांग्रेस ने गलत बयाना ले लिया है।

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने हार्दिक पटेल से जुड़े सेक्स सीडी कांड में भाजपा नेता पर साजिश का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने सेक्स सीडी सार्वजनिक करने वाले पाटीदार नेता अश्विन और केन्द्रीय मंत्री मनसुख मांडविया के साथ की तस्वीर को जारी कर पूरे मामले को मंत्री की साजिश के रूप में पेश किया है।

{ यह भी पढ़ें:- बाप से दूरी बेटे के साथ लंच, ये है युवराज नीति }

कांग्रेस की ओर से लगने वाले आरोपों को भाजपा ने दरकिनार करते हुए हार्दिक पटेल के सेक्स सीडी कांड से खुद को अलग बताया है। भाजपा का कहना है कि पार्टी न तो इस तरह की राजनीति में विश्वास नहीं करती है और न ही किसी तरह का समर्थन।

हार्दिक पटेल की सेक्स सीडी सामने आने के चंद घंटों बाद ही गुजरात की राजनीति करवट लेती नजर आ रही है। जो कांग्रेस पाटीदार आन्दोलन और जातिवादी राजनीति करने वाले युवा चेहरों के समर्थन के बल पर गुजरात में खुद के आगे होने के दावे कर भाजपा पर हमलावर थी, अब उसी कांग्रेस को सीडी कांड पर हार्दिक पटेल के बचाव में सामने आना पड़ रहा है। निश्चित ही यह सीडीकांड गुजरात की चुनावी राजनीति को कोई नया रंग देने में काम करेगा।

 

{ यह भी पढ़ें:- सीडी का गंदा खेल: हार्दिक का एक और अश्लील वीडियो वायरल }

 

Loading...