पीएम मोदी और शी जिनपिंग के बीच द्विपक्षीय वार्ता

पीएम मोदी और शी जिनपिंग के बीच द्विपक्षीय वार्ता

नई दिल्ली। चीन में ​ब्रिक्स सम्मेलन के बाद भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच मंगलवार को दो पक्षीय वार्ता हुई है। इस वार्ता को डोकलाम विवाद के बाद दोनों देशों के बीच पहली शीर्ष वार्ता के रूप में देखा जा रहा है। उम्मीद की जा रही है इस बैठक में दोनों देशों के बीच रिश्तों को सुधारने की दिशा में बात आगे बढ़ेगी।

मिली जानकारी के मुताबिक, इस वार्ता के शुरूआत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चीन को ब्रिक्स सम्मेलन के सफल आयोजन के लिए चीन को बधाई दी। उन्होंंने कहा कि भारत और चीन दोनों ही बड़े देश हैं और विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। ऐसे समय में दोनों देशों को एक दूसरे के सहयोग की आवश्यकता है।

{ यह भी पढ़ें:- मणिशंकर अय्यर के 'नीच' वाले बयान पर बोले पीएम मोदी- सभी गुजरातियों का अपमान किया }

वहीं चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने भारत के साथ अपने रिश्तों को मजबूत बनाने की बात कही। उन्होंंने भारत के साथ चीन के अच्छे रिश्तों का जिक्र करते हुए भविष्य में इन रिश्तों को बेहतर और मजबूती देने का जिक्र किया।

बताया जा रहा है कि दोनों देशों के शीर्ष नेताओं के बीच चल रही बातचीत में किन पहलुओं पर चर्चा हो रही इस बात की जानकारी वार्ता खत्म होने के बाद एक प्रेस कांफ्रेंस के जरिए सामने रखे जाएगें। संभव है भारत की ओर से इस वार्ता में चीन द्वारा पाकिस्तन में भारत—पाक सीमा से सटे इलाकों में किए जा रहे विकास कार्यों पर अपना पक्ष रखेगा। पाकिस्तान में आतंकवाद की भावना पर लगाम कसने के लिए भारत चीन पर कड़ा रवैया अपनाने पर भी जोर देगा।

{ यह भी पढ़ें:- गरीबों का दर्द नहीं समझते प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी: मनमोहन सिंह }

Loading...