FANI Cyclonic Storm: भारत के बाद बांग्लादेश में FANI तूफान ने मचाई तबाही, 14 की मौत

Cyclonic Storm Vaayu
गुजरात के साथ-साथ मानसून पर भी मंडरा रहा 'वायु' चक्रवात का खतरा

नई दिल्ली। भारत के पूर्वी तट पर तबाही मचाने के बाद चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ (Cyclone Fani) के शनिवार को पड़ोसी देश बांग्लादेश में दस्तक दे दी है। इस तूफान में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई और 63 अन्य घायल हो गए। मीडिया में आई खबरों में यह दावा किया गया है। उल्लेखनीय है कि 2008 में बंगाल की खाड़ी से होकर 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ म्यामां में तबाही मचाने वाले चक्रवाती तूफान नरगिस के बाद से ‘फोनी’ (Fani) सबसे जोरदार तूफान है। हालांकि, बांग्लादेश आपदा प्रबंध मंत्रालय ने तीन तटीय जिलों से मिली शुरूआती खबरों के आधार पर चार मौतों की आधिकारिक रूप से पुष्टि की है। इनमें से दो मौतें बरगुना में तथा एक – एक मौत भोला और नोआखली में हुई है।

After India Fani Reached In Bangladesh :

दरअसल, आपदा प्रबंध राज्य मंत्री एनामुर रहमान ने यहां संवाददाताओं से कहा कि सभी प्रभावित जिलों से विस्तृत सूचना मिलनी बाकी है। ढाका ट्रिब्यून के मुताबिक, आठ जिलों से 14 मौतों की खबर मिली है। चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ (Fani) ने शनिवार सुबह बांग्लादेश में दस्तक दी। तूफान में कई पेड़ उखड़ गए और 500 से अधिक मकानों को नुकसान पहुंचा। बांग्लादेश के अधिकारियों ने कहा है कि 16 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है क्योंकि देश के तटवर्ती इलाकों में तटबंधों के टूटने के चलते करीब 36 गांवों में पानी भर गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, बांग्लादेश के कई हिस्सों में आसमान में बादल छाये हुए हैं। तूफान के दस्तक देने के बाद से देश के कई इलाकों में बिजली आपूर्ति और इंटरनेट ठप पड़ने की खबरें हैं। डेली स्टार अखबार की खबर में कहा गया है कि खराब मौसम के चलते अधिकारियों को अब तक 12 उड़ानें रद्द करनी पड़ी हैं।

नई दिल्ली। भारत के पूर्वी तट पर तबाही मचाने के बाद चक्रवाती तूफान 'फोनी' (Cyclone Fani) के शनिवार को पड़ोसी देश बांग्लादेश में दस्तक दे दी है। इस तूफान में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई और 63 अन्य घायल हो गए। मीडिया में आई खबरों में यह दावा किया गया है। उल्लेखनीय है कि 2008 में बंगाल की खाड़ी से होकर 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ म्यामां में तबाही मचाने वाले चक्रवाती तूफान नरगिस के बाद से 'फोनी' (Fani) सबसे जोरदार तूफान है। हालांकि, बांग्लादेश आपदा प्रबंध मंत्रालय ने तीन तटीय जिलों से मिली शुरूआती खबरों के आधार पर चार मौतों की आधिकारिक रूप से पुष्टि की है। इनमें से दो मौतें बरगुना में तथा एक - एक मौत भोला और नोआखली में हुई है। दरअसल, आपदा प्रबंध राज्य मंत्री एनामुर रहमान ने यहां संवाददाताओं से कहा कि सभी प्रभावित जिलों से विस्तृत सूचना मिलनी बाकी है। ढाका ट्रिब्यून के मुताबिक, आठ जिलों से 14 मौतों की खबर मिली है। चक्रवाती तूफान 'फोनी' (Fani) ने शनिवार सुबह बांग्लादेश में दस्तक दी। तूफान में कई पेड़ उखड़ गए और 500 से अधिक मकानों को नुकसान पहुंचा। बांग्लादेश के अधिकारियों ने कहा है कि 16 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है क्योंकि देश के तटवर्ती इलाकों में तटबंधों के टूटने के चलते करीब 36 गांवों में पानी भर गया है। मिली जानकारी के मुताबिक, बांग्लादेश के कई हिस्सों में आसमान में बादल छाये हुए हैं। तूफान के दस्तक देने के बाद से देश के कई इलाकों में बिजली आपूर्ति और इंटरनेट ठप पड़ने की खबरें हैं। डेली स्टार अखबार की खबर में कहा गया है कि खराब मौसम के चलते अधिकारियों को अब तक 12 उड़ानें रद्द करनी पड़ी हैं।