1. हिन्दी समाचार
  2. महाराष्ट्र के बाद बीजेपी को झारखंड में झटका, चुनाव से पहले आजसू ने छोड़ा साथ

महाराष्ट्र के बाद बीजेपी को झारखंड में झटका, चुनाव से पहले आजसू ने छोड़ा साथ

After Maharashtra Bjp Gets A Shock In Jharkhand Before The Election Ajsu Left

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को झारखंड में झटका लगा है। झारखंड में 19 सालों तक भाजपा के साथ चली ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (आजसू) से गठबंधन टूट गया है। अब बीजेपी झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव में अकेले उतरेगी। भाजपा की सहयोगी आजसू ने बिना भाजपा से बात किए 12 सीटों पर उम्मीदवारों का एलान कर दिया था। इनमें तीन सीटों पर भाजपा ने भी उम्मीदवारों की घोषणा की थी।  

पढ़ें :- INDIA LOCKDOWN का पहला दमदार पोस्टर आया सामने, ये कलाकार आएंगे नजर

इससे पहले सोमवार को आजसू के अध्यक्ष सुदेश महतो ने प्रेसवार्ता कर बीजेपी को गठबंधन पर स्थिति साफ करने के लिए 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया था। उन्होंने आरोप लगाया कि गठबंधन पर बातचीत जारी थी कि इस दौरान बीजेपी ने अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी। पहले बीजेपी ने लिस्ट निकाली, जिसके बाद हमने भी अपनी जारी की। उन्होंने कहा कि मैंने 17 सीटों की सूची बीजेपी नेतृत्व को सौंपी, जिसपर बीजेपी नेतृत्व को फैसला लेना है।

कुछ सीटों को लेकर बीजेपी-AJSU के गठबंधन में गांठ पड़ गई

बता दें कि अभी तक बीजेपी ने 53 और आजसू ने 13 सीटों पर प्रत्याशियों का ऐलान किया है। इनमें से सिमरिया, सिंदरी, मांडू, चक्रधरपुर, लोहरदगा, चंदनकियारी और छतरपुर पर दोनों के प्रत्याशी चुनाव मैदान हैं। चक्रधरपुर सीट से बीजेपी प्रत्याशी के तौर पर प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा मैदान में हैं। यहां आजसू ने उनके खिलाफ रामलाल मुंडा को मैदान में उतारा है। जानकारी के मुताबिक इन्हीं सीटों को लेकर गठबंधन में गांठ पड़ गई। दोनों दल इन सीटों पर अपनी-अपनी दावेदारी से पीछे नहीं हट रहे।

उधर, एनडीए में शामिल बीजेपी की एक अन्य सहयोगी लोकजनशक्ति पार्टी (एलजेपी) हर हाल में जरमुंडी सीट अपने लिए चाहती थी, लेकिन बीजेपी ने वहां भी अपना उम्मीदवार उतार दिया। जिसके बाद एलजेपी ने भी झारखंड चुनाव अकेले लड़ने का ऐलान कर दिया। इस साल हुए लोकसभा चुनाव में बीजेपी-आजसू गठबंधन के तहत मैदान में उतरे थे। और सूबे की कुल 14 सीटों में 13 पर जीत हासिल की थी। 12 पर बीजेपी और एक सीट गिरिडीह में आजसू को जीत हासिल हुई थी। लेकिन विधानसभा चुनाव में ये गठबंधन आगे नहीं बढ़ पाया. 2014 के चुनाव में बीजेपी के साथ गठबंधन में आजसू ने आठ सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिनमें से पांच पर उसे जीत मिली थी।  

पढ़ें :- नोएडा के कैलाश अस्पताल में बम होने की सूचना पर हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...