कश्मीर: पाक चेतावनी के बाद भारत में हुए 3 आतंकी हमले, मेजर शहीद, 12 जवान घायल

कश्मीर: 24 घंटे में हुए 3 आतंकी हमले, मेजर शहीद जबकि 12 जवान गंभीर रूप से घायल
कश्मीर: 24 घंटे में हुए 3 आतंकी हमले, मेजर शहीद जबकि 12 जवान गंभीर रूप से घायल

श्रीनगर। पाकिस्तान की ओर से जारी की गई चेतावनी के बाद जम्मू-कश्मीर में सोमवार को सुरक्षाबलों पर तीन बड़े आतंकी हमले हुए जिसके बाद से सेना अलर्ट पर है। कश्मीर में हुए इस आतंकी हमले में एक मेजर शहीद हो गए जबकि सेना के 12 जवान शहीद हो गए। वहीं पिछले 24 घंटे में सैनिकों ने घाटी में छिपे 2 अन्य आतंकियों को ढेर कर दिया है। जाने तीनों हमले से जुड़ी मुख्य जानकारी…..

After Pakistan Information Three Terrorists Attack In Valley On Army :

पहला हमला

  • अनंतनाग जिले के अचबल में सुरक्षा बलों को सोमवार सुबह-सुबह आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली।
  • इलाके में तलाशी अभियान शुरु किया गया। आतंकियों को इसकी भनक लगते ही उन्होंने सुरक्षाबलों पर हमला करना शुरू कर दिया।
  • इस हमले में मेजर केतन शर्मा शहीद हो गए वहीं एक अन्य अधिकारी और 2 जवान घायल हो गए।
  • मुठभेड़ के दौरान एक आतंकी को ढेर कर दिया गया, जिससे हथियार और गोला बारूद भी बरामद किया गया।
  • घायल अफसर और जवानों को श्रीनगर में आर्मी के 92 बेस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।
  • 19 राष्ट्रीय राइफल्स के शहीद मेजर केतन शर्मा यूपी के मेरठ के रहने वाले हैं।

दूसरा हमला

  • पुलवामा के अरिहल गांव में सेना की राष्ट्रीय राइफल्स के एक वाहन पर आईईडी के जरिए हमला किया गया।
  • जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में सोमवार को आतंकवादियों ने सेना के एक गश्ती काफिले को निशाना बनाते हुए एक वाहन से बंधे आईईडी में विस्फोट कर दिया, जिसमें 9 जवान और 2 नागरिक घायल हो गए।
  • हमला होते ही सेना के जवान तुरंत हरकत में आ गए और इलाके को घेर लिया और किसी दूसरे हमले को टालने के लिए हवा में गोलियां चलाईं।
  • आतंकियों ने जिस जगह पर आईईडी ब्लास्ट किया था, वह 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले वाली जगह से 27 किलोमीटर दूर है। पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे।

तीसरा हमला

  • सेना के वाहन पर हमले के बाद त्राल में सीआरपीएफ की 180वीं बटैलियन के मुख्यालय पर ग्रेनेड फेंककर हमला किया गया।
  • अज्ञात हमलावरों ने मुख्यालय में मौजूद जवानों को निशाना बनाने की साजिश रची, हालांकि यह ग्रेनेड कैंप के बाहर की गिरकर फट गया।
  • इस हमले में किसी के भी हताहत होने की सूचना नहीं है।
श्रीनगर। पाकिस्तान की ओर से जारी की गई चेतावनी के बाद जम्मू-कश्मीर में सोमवार को सुरक्षाबलों पर तीन बड़े आतंकी हमले हुए जिसके बाद से सेना अलर्ट पर है। कश्मीर में हुए इस आतंकी हमले में एक मेजर शहीद हो गए जबकि सेना के 12 जवान शहीद हो गए। वहीं पिछले 24 घंटे में सैनिकों ने घाटी में छिपे 2 अन्य आतंकियों को ढेर कर दिया है। जाने तीनों हमले से जुड़ी मुख्य जानकारी..... पहला हमला
  • अनंतनाग जिले के अचबल में सुरक्षा बलों को सोमवार सुबह-सुबह आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली।
  • इलाके में तलाशी अभियान शुरु किया गया। आतंकियों को इसकी भनक लगते ही उन्होंने सुरक्षाबलों पर हमला करना शुरू कर दिया।
  • इस हमले में मेजर केतन शर्मा शहीद हो गए वहीं एक अन्य अधिकारी और 2 जवान घायल हो गए।
  • मुठभेड़ के दौरान एक आतंकी को ढेर कर दिया गया, जिससे हथियार और गोला बारूद भी बरामद किया गया।
  • घायल अफसर और जवानों को श्रीनगर में आर्मी के 92 बेस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।
  • 19 राष्ट्रीय राइफल्स के शहीद मेजर केतन शर्मा यूपी के मेरठ के रहने वाले हैं।
दूसरा हमला
  • पुलवामा के अरिहल गांव में सेना की राष्ट्रीय राइफल्स के एक वाहन पर आईईडी के जरिए हमला किया गया।
  • जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में सोमवार को आतंकवादियों ने सेना के एक गश्ती काफिले को निशाना बनाते हुए एक वाहन से बंधे आईईडी में विस्फोट कर दिया, जिसमें 9 जवान और 2 नागरिक घायल हो गए।
  • हमला होते ही सेना के जवान तुरंत हरकत में आ गए और इलाके को घेर लिया और किसी दूसरे हमले को टालने के लिए हवा में गोलियां चलाईं।
  • आतंकियों ने जिस जगह पर आईईडी ब्लास्ट किया था, वह 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले वाली जगह से 27 किलोमीटर दूर है। पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे।
तीसरा हमला
  • सेना के वाहन पर हमले के बाद त्राल में सीआरपीएफ की 180वीं बटैलियन के मुख्यालय पर ग्रेनेड फेंककर हमला किया गया।
  • अज्ञात हमलावरों ने मुख्यालय में मौजूद जवानों को निशाना बनाने की साजिश रची, हालांकि यह ग्रेनेड कैंप के बाहर की गिरकर फट गया।
  • इस हमले में किसी के भी हताहत होने की सूचना नहीं है।