आगरा डीएम के नोटिस भेजने के बाद प्रियंका गांधी ने फिर बोला हमला, कहीं यह बातें

priyanka gandhi
प्रियंका गांधी को लोधी एस्टेट का बंगला एक महीने में करना होगा खाली, केंद्र ने भेजा नोटिस

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक बार फिर योगी सरकार पर हमला बोला है। यह हमला उन्होंने आगरा के डीएम के नोटिस भेजने के बाद किया है। दरअसल, सोमवार को प्रियंका गांधी ने एक अखबार में कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा था। इसके साथ ही आगरा मॉडल होने पर भी तंज कसा था। उन्होंने लिखा 48 घंटे में 28 मौतें हो गई।

After Sending Notice Of Agra Dm Priyanka Gandhi Again Said Attack Somewhere These Things :

इसके लिए उन्होंने शासन और प्रशासन को घेरा। प्रियंका के ट्वीट के बाद राजनीतिक गलियाारों में हड़कंप मच गया। वहीं, इसको लेकर आगार के डीएम पीएन सिंह ने प्रियंका गांधी को पत्र लिखकर उनसे 22 जून को किए गए ट्वीट पर 24 घंटे के अंदर खंडन मांगा। डीएम ने पत्र में कहा है, पिछले 109 दिन में आगरा में काविड-19 के 1,139 केस आए हैं, 79 मरीज़ों की मौत हुई है। पिछले 4ं8 घंटे में 28 लोगों की मृत्यु की सूचना असत्य एवं निराधार है।

वहीं, ​मंगलवार को इसको लेकर प्रियंका गांधी ने फिर से हमला बोल दिया। प्रियंका ने ​डीएम आगरा के नोटिस का कोई जवाब नहीं देते हुए एक और ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने एक और अखबार का हवाला देते हुए लिखा कि आगरा में कोरोना से मृत्युदर दिल्ली व मुंबई से भी अधिक है। यहां कोरोना से मरीजों की मृत्यदर 6.8 प्रतिशत है।

यहां कोरोना से जान गंवाने वाले 79 मरीजों में से कुल 35प्रतिशत यानि 28 लोगों की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 48 घंटे के अंदर हुई है।  इसके साथ ही उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि, ‘आगरा मॉडल’ का झूठ फैलाकर इन विषम परिस्थितियों में धकेलने के जिम्मेदार कौन हैं? मुख्यमंत्रीजी 48 घंटे के भीतर जनता को इसका स्पष्टीकरण दें और कोविड मरीजों की स्थिति और संख्या में की जा रही हेराफेरी पर जवाबदेही बनाएं।

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक बार फिर योगी सरकार पर हमला बोला है। यह हमला उन्होंने आगरा के डीएम के नोटिस भेजने के बाद किया है। दरअसल, सोमवार को प्रियंका गांधी ने एक अखबार में कोरोना से हुई मौतों को लेकर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा था। इसके साथ ही आगरा मॉडल होने पर भी तंज कसा था। उन्होंने लिखा 48 घंटे में 28 मौतें हो गई। इसके लिए उन्होंने शासन और प्रशासन को घेरा। प्रियंका के ट्वीट के बाद राजनीतिक गलियाारों में हड़कंप मच गया। वहीं, इसको लेकर आगार के डीएम पीएन सिंह ने प्रियंका गांधी को पत्र लिखकर उनसे 22 जून को किए गए ट्वीट पर 24 घंटे के अंदर खंडन मांगा। डीएम ने पत्र में कहा है, पिछले 109 दिन में आगरा में काविड-19 के 1,139 केस आए हैं, 79 मरीज़ों की मौत हुई है। पिछले 4ं8 घंटे में 28 लोगों की मृत्यु की सूचना असत्य एवं निराधार है। वहीं, ​मंगलवार को इसको लेकर प्रियंका गांधी ने फिर से हमला बोल दिया। प्रियंका ने ​डीएम आगरा के नोटिस का कोई जवाब नहीं देते हुए एक और ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने एक और अखबार का हवाला देते हुए लिखा कि आगरा में कोरोना से मृत्युदर दिल्ली व मुंबई से भी अधिक है। यहां कोरोना से मरीजों की मृत्यदर 6.8 प्रतिशत है। यहां कोरोना से जान गंवाने वाले 79 मरीजों में से कुल 35प्रतिशत यानि 28 लोगों की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 48 घंटे के अंदर हुई है।  इसके साथ ही उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि, ‘आगरा मॉडल’ का झूठ फैलाकर इन विषम परिस्थितियों में धकेलने के जिम्मेदार कौन हैं? मुख्यमंत्रीजी 48 घंटे के भीतर जनता को इसका स्पष्टीकरण दें और कोविड मरीजों की स्थिति और संख्या में की जा रही हेराफेरी पर जवाबदेही बनाएं।