रिलायंस की 42वीं एजीएम बैठक के बाद कंपनी शेयर्स में आई भारी बढ़त, प्रतिद्वंदी कं​पनियों को झटका

relaince agm
रिलायंस की 42वीं एजीएम बैठक के बाद कंपनी शेयर्स में आई भारी बढ़त, प्रतिद्वंदी कं​पनियों को झटका

नई दिल्ली। रिलांयस इंडस्ट्रीज लिमिडेट की 42वीं आम बैठक के बाद कंपनी के शेयर्स में भारी उछाल देखने को मिला है। मंगलवार की सुबह जैसे ही बाजार खुले तो कंपनी के शेयर्स में करीब आठ फीसदी का उछाल दिखाई दिया। वहीं अब रिलायंस के शेयर्स में 12 फीसदी की तेजी देखी गई है। बता दें कि इतनी बढ़त14 जनवरी 2009 के बाद अब देखने को मिली है।

After The 42nd Agm Meeting Of Reliance A Huge Increase In Company Shares A Shock To The Competitors :

बता दें कि इस छलांग के बाद एक शेयर की कीमत 1,302.50 रुपये तक पहुंच गई। बताया जा रहा है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने एजीएम में कंपनी को 18 महीनों में कर्जमुक्त बनाने की घोषणा की थी। जिसके बाद निवेशकों ने जमकर निवेश किया। बाजार के जानकारों के मुताबिक मंगलवार को कंपनी के शेयर्स में एक दशक का सबसे लंबा छलांग देखा गया।

बताया जा रहा है कि ये उछाल मुकेश अंबानी के उस ऐलान के बाद दिखा, जिसमें उन्होंने सऊदी अरब कंपनी सऊदी अरामको के साथ साझेदारी की बात की थी। सऊदी अरब की अरामको रिलायंस के ऑयल टू केमिकल बिजनेस में 20 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी जो कि रिलायंस में अभी तक का सबसे बड़ा विदेश निवेश होगा। अंबानी ने बताया कि इस सौदे के बाद रिलायंस की रिफाइनरी में अरामको प्रतिदन 5 लाख बैरल कच्चे तेल की आपूर्ती करेगी।

नई दिल्ली। रिलांयस इंडस्ट्रीज लिमिडेट की 42वीं आम बैठक के बाद कंपनी के शेयर्स में भारी उछाल देखने को मिला है। मंगलवार की सुबह जैसे ही बाजार खुले तो कंपनी के शेयर्स में करीब आठ फीसदी का उछाल दिखाई दिया। वहीं अब रिलायंस के शेयर्स में 12 फीसदी की तेजी देखी गई है। बता दें कि इतनी बढ़त14 जनवरी 2009 के बाद अब देखने को मिली है। बता दें कि इस छलांग के बाद एक शेयर की कीमत 1,302.50 रुपये तक पहुंच गई। बताया जा रहा है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने एजीएम में कंपनी को 18 महीनों में कर्जमुक्त बनाने की घोषणा की थी। जिसके बाद निवेशकों ने जमकर निवेश किया। बाजार के जानकारों के मुताबिक मंगलवार को कंपनी के शेयर्स में एक दशक का सबसे लंबा छलांग देखा गया। बताया जा रहा है कि ये उछाल मुकेश अंबानी के उस ऐलान के बाद दिखा, जिसमें उन्होंने सऊदी अरब कंपनी सऊदी अरामको के साथ साझेदारी की बात की थी। सऊदी अरब की अरामको रिलायंस के ऑयल टू केमिकल बिजनेस में 20 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी जो कि रिलायंस में अभी तक का सबसे बड़ा विदेश निवेश होगा। अंबानी ने बताया कि इस सौदे के बाद रिलायंस की रिफाइनरी में अरामको प्रतिदन 5 लाख बैरल कच्चे तेल की आपूर्ती करेगी।