श्रीलंका में मस्जिद पर हुए हमले के बाद सरकार ने लगाया सोशल मीडिया पर बैन, ये है वजह

srilanka
श्रीलंका में मस्जिद पर हुए हमले के बाद सरकार ने लगाया सोशल मीडिया पर बैन, ये है वजह

कोलंबो। श्रीलंका में 21 अप्रैल को ईस्टर के दिन मस्जिदों में हुए सिलसिलेवार धमाकों से 251 लोगों की जान गई थी। जिसके बाद से बुर्का पर बैन लगा दिया गया। 21 अप्रेल को हुए हमले के बाद से श्रीलंका का माहौल अभी भी गर्म बना हुआ है। वहीं, अब चिलाऊ कस्बे में मस्जिदों पर हुए हमले के बाद से सरकार ने फेसबुक, वॉट्सऐप समेत कई सोशल मीडिया साइट्स पर बैन लगा दिया।

After The Attack On The Mosque In Sri Lanka The Government Banned The Social Media This Is The Reason :

बता दें कि ये बैन एक फेसबुक पोस्ट पर शुरू हुए विवाद के तहत लगा है। इस भड़काऊ फेसबुक पोस्ट पर चिलाऊ का रहने वाला 38 वर्षीय अब्दुल हमीद मोहम्मद हसमर नामक शख्स ने जवाब देते हुए कहा “ज्याद मत हंसो, एक दिन तुम रोओगे।’ जिसके बाद से इलाके में स्थानीय लोगों ने एक व्यक्ति के साथ मारपीट कर पत्थरबाज़ी की। बाद में तीन मस्जिदों और एक मुस्लिम नागरिक की दुकान पर हमला किया। बताया जा रहा है कि इस विवाद के बाद से पुलिस ने हसमर को गिरफ्तार कर लिया।

स्थानीय नागरिकों ने बताया कि हमसर की इस पोस्ट को धमकी के तौर पर देखा गया क्योंकि चिलाऊ एक क्रिश्चियन बाहुल्य इलाका है। इस पोस्ट के बाद उग्र भीड़ ने उसकी पिटाई कर दी। बाद में मस्जिदों और दुकानों पर हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि जिस दुकान पर हमला हुआ वो हमसर की ही दुकान थी।

श्रीलंका पुलिस प्रवक्ता रुवान गुणशेखर ने कहा “भड़काऊ फेसबुक पोस्ट लिखने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है।” बताया जा रहा है कि पोस्ट में कमेंट लिखा था “हमें कोई रुला नहीं सकता।” इस पोस्ट पर अब्दुल हमीद मोहम्मद हसमर नामक शख्स ने जवाब दिया “ज्याद मत हंसो, एक दिन तुम रोओगे।”

कोलंबो। श्रीलंका में 21 अप्रैल को ईस्टर के दिन मस्जिदों में हुए सिलसिलेवार धमाकों से 251 लोगों की जान गई थी। जिसके बाद से बुर्का पर बैन लगा दिया गया। 21 अप्रेल को हुए हमले के बाद से श्रीलंका का माहौल अभी भी गर्म बना हुआ है। वहीं, अब चिलाऊ कस्बे में मस्जिदों पर हुए हमले के बाद से सरकार ने फेसबुक, वॉट्सऐप समेत कई सोशल मीडिया साइट्स पर बैन लगा दिया। बता दें कि ये बैन एक फेसबुक पोस्ट पर शुरू हुए विवाद के तहत लगा है। इस भड़काऊ फेसबुक पोस्ट पर चिलाऊ का रहने वाला 38 वर्षीय अब्दुल हमीद मोहम्मद हसमर नामक शख्स ने जवाब देते हुए कहा "ज्याद मत हंसो, एक दिन तुम रोओगे।' जिसके बाद से इलाके में स्थानीय लोगों ने एक व्यक्ति के साथ मारपीट कर पत्थरबाज़ी की। बाद में तीन मस्जिदों और एक मुस्लिम नागरिक की दुकान पर हमला किया। बताया जा रहा है कि इस विवाद के बाद से पुलिस ने हसमर को गिरफ्तार कर लिया। स्थानीय नागरिकों ने बताया कि हमसर की इस पोस्ट को धमकी के तौर पर देखा गया क्योंकि चिलाऊ एक क्रिश्चियन बाहुल्य इलाका है। इस पोस्ट के बाद उग्र भीड़ ने उसकी पिटाई कर दी। बाद में मस्जिदों और दुकानों पर हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि जिस दुकान पर हमला हुआ वो हमसर की ही दुकान थी। श्रीलंका पुलिस प्रवक्ता रुवान गुणशेखर ने कहा "भड़काऊ फेसबुक पोस्ट लिखने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है।" बताया जा रहा है कि पोस्ट में कमेंट लिखा था "हमें कोई रुला नहीं सकता।" इस पोस्ट पर अब्दुल हमीद मोहम्मद हसमर नामक शख्स ने जवाब दिया "ज्याद मत हंसो, एक दिन तुम रोओगे।"