चीनी ऐप पर ताला लगने के बाद पीएम मोदी आज कर सकते हैं यह बड़े ऐलान, शाम 4 बजे देश को करेंगे संबोधित

1797PM_Modi_convenes_all-party_meeting,_will_talk_to_teach_China_a_lesson
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओं को दिया ऐप बनाने का चैलेंज, चीन को लगेगा बड़ा झटका

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोंदी आज शाम चार बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे। कोरोना महामारी, भारत—चीन के बीच सीमा विवाद, 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध समेत अन्य मुद्दों पर संबोधन करेंगे। इसके साथ ही एक जुलाई से अनलॉक 2.0 की गाइडलाइंस लागू होने जा रही है।

After The Chinese App Is Locked Pm Modi Can Make This Big Announcement Today He Will Address The Country At 4 Pm :

ऐसे में पीएम मोदी कई अन्य पहलुओं पर बात कर सकते हैं। इससे पहले पीएम मोदी 12 मई को राष्ट्र को संबोधित किए थे। उस दौरान उन्होंने 20 लाख करोड़ रुपये के वित्‍तीय पैकेज की घोषणा की थी। रविवार को ‘मन की बात’ में पीएम मोदी ने लद्दाख में तनाव से लेकर कोविड-19 तक का जिक्र किया था। आज शाम के अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी से कुछ बड़े ऐलानों की उम्‍मीद है।

1. पीएम मोदी अनलॉक 2.0 की गाइडलाइंस को बता सकते हैं। एक जुलाई से अनलॉक 2.0 की गाइडलाइंस जारी होने जा रही है। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री कुछ गतिविधियों की छूट अब भी न दिए जाने की वजह बता सकते हैं। इसके अलावा, किन बातों को ध्‍यान में रखकर गाइडलाइंस तैयार की गई हैं, उनका मकसद क्‍या है, इस बारे में भी प्रधानमंत्री बता सकते हैं।

2. कोरोना वायरस के दौर में पीएम मोदी जब लोगों से बात करते हैं तो इससे बचने के उपाय वह जरूर बताते हैं। उन्‍होंने सोशल डिस्‍टेंसिंग और मास्‍क का महत्‍व समझाया है।

3. भारत-चीन के बीच चल रहे विवाद के बीच 59 चीनी ऐप्स का बैन करने के फैसले पर भी जनता से वह बात करेंगे।

4. सरकार ने घरेलू उड़ानों की परमिशन दे रखी है मगर इंटरनैशनल फ्लाइट्स अभी सिर्फ ‘वंदे भारत मिशन’ के तहत ही चलाई जाएंगी। इसके अलावा ट्रेनों को भी बंद रखने के निर्देश हैं। पीएम मोदी अपने संबोधन में अनलॉक 2.0 के दौरान यातायात के इन दो अहम साधनों को सीमित रखने के बारे में बता सकते हैं।

5. राष्‍ट्र के नाम अपने संबोधन में पीएम मोदी चीन के साथ जारी तनाव पर बात कर सकते हैं। वह साफ कर चुके हैं कि भारत किसी भी घुसपैठ का मुंहतोड़ जवाब देगा और इसके लिए सेना को खुली छूट दी गई है। वह वर्तमान हालात पर देश को अपडेट भी दे सकते हैं। इसके अलावा, सरकार ने चीनी प्रभुत्‍व को कम करने के लिए क्‍या-क्‍या कदम उठाए हैं, उसकी भी जानकारी प्रधानमंत्री से मिल सकती है।

6. चीन के साथ जारी तनाव के मद्देनजर भारत में चीनी उत्‍पादों के बायकॉट की मांग तेज हो रही है। प्रधानमंत्री सीधे तो चीनी बायकॉट की बात नहीं करेंगे मगर वह इशारों में जनता से ‘आत्‍मनिर्भर’ होने की अपील कर सकते हैं।

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोंदी आज शाम चार बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे। कोरोना महामारी, भारत—चीन के बीच सीमा विवाद, 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध समेत अन्य मुद्दों पर संबोधन करेंगे। इसके साथ ही एक जुलाई से अनलॉक 2.0 की गाइडलाइंस लागू होने जा रही है। ऐसे में पीएम मोदी कई अन्य पहलुओं पर बात कर सकते हैं। इससे पहले पीएम मोदी 12 मई को राष्ट्र को संबोधित किए थे। उस दौरान उन्होंने 20 लाख करोड़ रुपये के वित्‍तीय पैकेज की घोषणा की थी। रविवार को 'मन की बात' में पीएम मोदी ने लद्दाख में तनाव से लेकर कोविड-19 तक का जिक्र किया था। आज शाम के अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी से कुछ बड़े ऐलानों की उम्‍मीद है। 1. पीएम मोदी अनलॉक 2.0 की गाइडलाइंस को बता सकते हैं। एक जुलाई से अनलॉक 2.0 की गाइडलाइंस जारी होने जा रही है। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री कुछ गतिविधियों की छूट अब भी न दिए जाने की वजह बता सकते हैं। इसके अलावा, किन बातों को ध्‍यान में रखकर गाइडलाइंस तैयार की गई हैं, उनका मकसद क्‍या है, इस बारे में भी प्रधानमंत्री बता सकते हैं। 2. कोरोना वायरस के दौर में पीएम मोदी जब लोगों से बात करते हैं तो इससे बचने के उपाय वह जरूर बताते हैं। उन्‍होंने सोशल डिस्‍टेंसिंग और मास्‍क का महत्‍व समझाया है। 3. भारत-चीन के बीच चल रहे विवाद के बीच 59 चीनी ऐप्स का बैन करने के फैसले पर भी जनता से वह बात करेंगे। 4. सरकार ने घरेलू उड़ानों की परमिशन दे रखी है मगर इंटरनैशनल फ्लाइट्स अभी सिर्फ 'वंदे भारत मिशन' के तहत ही चलाई जाएंगी। इसके अलावा ट्रेनों को भी बंद रखने के निर्देश हैं। पीएम मोदी अपने संबोधन में अनलॉक 2.0 के दौरान यातायात के इन दो अहम साधनों को सीमित रखने के बारे में बता सकते हैं। 5. राष्‍ट्र के नाम अपने संबोधन में पीएम मोदी चीन के साथ जारी तनाव पर बात कर सकते हैं। वह साफ कर चुके हैं कि भारत किसी भी घुसपैठ का मुंहतोड़ जवाब देगा और इसके लिए सेना को खुली छूट दी गई है। वह वर्तमान हालात पर देश को अपडेट भी दे सकते हैं। इसके अलावा, सरकार ने चीनी प्रभुत्‍व को कम करने के लिए क्‍या-क्‍या कदम उठाए हैं, उसकी भी जानकारी प्रधानमंत्री से मिल सकती है। 6. चीन के साथ जारी तनाव के मद्देनजर भारत में चीनी उत्‍पादों के बायकॉट की मांग तेज हो रही है। प्रधानमंत्री सीधे तो चीनी बायकॉट की बात नहीं करेंगे मगर वह इशारों में जनता से 'आत्‍मनिर्भर' होने की अपील कर सकते हैं।