गो वंशों की मौत के बाद लापरवाह नौ अफसरों को सीएम योगी ने किया सस्पेंड, दो डीएम से मांगा जवाब

cm yogi
गो वंशों की मौत के बाद लापरवाह नौ अफसरों को सीएम योगी ने किया सस्पेंड, दो डीएम से मांगा जवाब

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गौशालाओं में गो वंशों की लागातर हो रही मौतों के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्ती दिखानी शुरू कर दी है। गौशालाओं को लेकर लापरवाही बरतने वाले अफसरों पर गाज गिरनी शुरू हो गयी है। सीएम ने अयोध्या के कांजी हाउस प्रभारी, गोशाला प्रभारी, अयोध्या जिले के ही मिल्कीपुर के बीडीओ, उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, मिर्जापुर के मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, नगर पालिका के प्रभारी अधिशासी अधिकारी और नगर अभियंता समेत नौ अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है।

After The Death Of Cattle The Cm Yogi Suspended The Nine Officers :

इसके साथ ही अयोध्या और मिर्जापुर के जिलाधिकारी समेत कई अन्य अफसरों को नोटिस दिया है। वहीं, इस मामले में प्रयागराज और विंध्याचल धाम के मंडलायुक्तों को गो वंशों की हो रही मृत्यू के मामले में जांच सौंपी है। साथ ही अफसरों की जिम्मेेदारी तय करने के निर्देश भी दिये गये हैं। गौशालाओं में गो वंशों की हो रही मृत्यू के बाद सीएम योगी आदित्यानाथ ने अफसरों पर कार्रवाई शुरू कर दी है। इसके साथ ही उन्होंने अफसरों को निर्देश दिया है कि गोशाालाओं
की व्यवस्थाएं दुरुस्त की जाये।

सीएम ने चेतावानी देते हुए कहा कि अगर अफसर इस मामले में लापरवाही करते मिले तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जायेगी। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान सीएम ने कई जिलों के डीएम समेत अन्य अफसरों को जमकर फटकार लगाई। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान ही उन्होंने अयोध्या के खंड विकास अधिकारी (बीडीओ) मिल्कीपुर और उप मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को सस्पेंड करने के निर्देश दिए। उन्होंने मिर्जापुर नगर पालिका के ईओ मुकेश कुमार, नगर अभियंता रामजी उपाध्याय, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी (सीवीओ) डॉ. एके सिंह को निलंबित करने को कहा है।

सीएम ने अयोध्या के डीएम, सीवीओ और नगर आयुक्त को भी नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने अयोध्या नगर निगम के कांजी हाउस प्रभारी डॉ. उपेंद्र कुमार और गोशाला प्रभारी विजेंद्र को भी सस्पेंड कर दिया। मुख्यमंत्री ने अयोध्या, प्रयागराज और मिर्जापुर के मंडलायुक्तों को निर्देश दिया कि अन्य जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई करें।

सीएम ने कहा गौशालाओं का डीएम खुद करें निरीक्षण
गौशालाओं में बढ़ती मौत के बाद सीएम ने सभी जिलों के डीएम को सख्त निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि, आश्रय स्थल के लिए सरकार पर्याप्त धन अवमुक्त कर रही है फिर भी देखरेख में लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जायेगी। सीएम ने ​कहा कि, गो वंशों की हो रही मौत के जिम्मेदार कौन हैं? इसके साथ ही उन्होंने कहा कि डीएम खुद गौशालाओं में विजिट करें और दो दिन के अंदर ​सुरक्षा मानकों को पूरा करें। यह सुनिश्चित करें कि बीमार पशुओं की टीकाकरण कार्रवाई निश्चित रूप से हो।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गौशालाओं में गो वंशों की लागातर हो रही मौतों के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्ती दिखानी शुरू कर दी है। गौशालाओं को लेकर लापरवाही बरतने वाले अफसरों पर गाज गिरनी शुरू हो गयी है। सीएम ने अयोध्या के कांजी हाउस प्रभारी, गोशाला प्रभारी, अयोध्या जिले के ही मिल्कीपुर के बीडीओ, उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, मिर्जापुर के मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, नगर पालिका के प्रभारी अधिशासी अधिकारी और नगर अभियंता समेत नौ अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है। इसके साथ ही अयोध्या और मिर्जापुर के जिलाधिकारी समेत कई अन्य अफसरों को नोटिस दिया है। वहीं, इस मामले में प्रयागराज और विंध्याचल धाम के मंडलायुक्तों को गो वंशों की हो रही मृत्यू के मामले में जांच सौंपी है। साथ ही अफसरों की जिम्मेेदारी तय करने के निर्देश भी दिये गये हैं। गौशालाओं में गो वंशों की हो रही मृत्यू के बाद सीएम योगी आदित्यानाथ ने अफसरों पर कार्रवाई शुरू कर दी है। इसके साथ ही उन्होंने अफसरों को निर्देश दिया है कि गोशाालाओं की व्यवस्थाएं दुरुस्त की जाये। सीएम ने चेतावानी देते हुए कहा कि अगर अफसर इस मामले में लापरवाही करते मिले तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जायेगी। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान सीएम ने कई जिलों के डीएम समेत अन्य अफसरों को जमकर फटकार लगाई। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान ही उन्होंने अयोध्या के खंड विकास अधिकारी (बीडीओ) मिल्कीपुर और उप मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को सस्पेंड करने के निर्देश दिए। उन्होंने मिर्जापुर नगर पालिका के ईओ मुकेश कुमार, नगर अभियंता रामजी उपाध्याय, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी (सीवीओ) डॉ. एके सिंह को निलंबित करने को कहा है। सीएम ने अयोध्या के डीएम, सीवीओ और नगर आयुक्त को भी नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने अयोध्या नगर निगम के कांजी हाउस प्रभारी डॉ. उपेंद्र कुमार और गोशाला प्रभारी विजेंद्र को भी सस्पेंड कर दिया। मुख्यमंत्री ने अयोध्या, प्रयागराज और मिर्जापुर के मंडलायुक्तों को निर्देश दिया कि अन्य जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई करें। सीएम ने कहा गौशालाओं का डीएम खुद करें निरीक्षण गौशालाओं में बढ़ती मौत के बाद सीएम ने सभी जिलों के डीएम को सख्त निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि, आश्रय स्थल के लिए सरकार पर्याप्त धन अवमुक्त कर रही है फिर भी देखरेख में लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जायेगी। सीएम ने ​कहा कि, गो वंशों की हो रही मौत के जिम्मेदार कौन हैं? इसके साथ ही उन्होंने कहा कि डीएम खुद गौशालाओं में विजिट करें और दो दिन के अंदर ​सुरक्षा मानकों को पूरा करें। यह सुनिश्चित करें कि बीमार पशुओं की टीकाकरण कार्रवाई निश्चित रूप से हो।