अनुच्छेद 370 पर सरकार के फैसले के बाद यूपी में भी हाईअलर्ट, रद्द की गई अफसरों की छुट्टियां

dgp op singh
अनुच्छेद 370 पर सरकार के फैसले के बाद यूपी में भी हाईअलर्ट, रद्द की गई अफसरों की छुट्टियां

लखनऊ। जम्मू—कश्मीर में धारा 370 समाप्त करने के फैसले के बाद पूरे देश में गहमा—गहमी का माहौल है। कई जगहों पर जश्न का माहौल तो कही स्थिती तनावपूर्ण है। इस बीच उत्तर प्रदेश में कानून—व्यवस्था को ध्यान में रखकर हाईअलर्ट जारी कर दिया गया हे।

After The Governments Decision On Article 370 High Alert In Up :

बता दें कि पुलिस मुखिया ओपी सिंह की तरफ से सभी जिलों के पुलिस कप्तानों को आदेश जारी कर अलर्ट रहने को कहा गया है। पुलिस कप्तानों को कहा कि वो अपने—अपने क्षेत्रों के संवेदनशील इलाकों पर विशेष नजर रखें। यहीं भीड़भाड़ वाले इलाकों में सादे कपड़ों में पुलिसकर्मियों को तैनात करें और किसी के द्वारा भी संदिग्ध गतिविधि करते हुए देख तुरन्त उसके खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

पुलिस ​मुखिया ने कहा कि कानून—व्यवस्था से किसी भी प्रकार की परिस्थिती में खिलवाड़ नहीं होना चाहिए। वहीं सड़कों पर उतरकर उपद्रव करने वालों से सख्ती से निपटने के निर्देश डीजीपी ओपी सिंह ने दिए हैं।

वहीं सरकार ने सभी जिलों के जिलाधिकारियों को खुली छूट दी है कि वो अपने जिलों में कानून—व्यवस्था को दुरूस्त रखने के लिए कभी भी धारा 144 लागू कर सकते हैं। गौरतलब हो कि 15 अगस्त तक फील्ड में तैनात सभी पुलिस कर्मियों और अफसरों की छुट्टियां पहले ही रद्द कर दी गई थी।

लखनऊ। जम्मू—कश्मीर में धारा 370 समाप्त करने के फैसले के बाद पूरे देश में गहमा—गहमी का माहौल है। कई जगहों पर जश्न का माहौल तो कही स्थिती तनावपूर्ण है। इस बीच उत्तर प्रदेश में कानून—व्यवस्था को ध्यान में रखकर हाईअलर्ट जारी कर दिया गया हे। बता दें कि पुलिस मुखिया ओपी सिंह की तरफ से सभी जिलों के पुलिस कप्तानों को आदेश जारी कर अलर्ट रहने को कहा गया है। पुलिस कप्तानों को कहा कि वो अपने—अपने क्षेत्रों के संवेदनशील इलाकों पर विशेष नजर रखें। यहीं भीड़भाड़ वाले इलाकों में सादे कपड़ों में पुलिसकर्मियों को तैनात करें और किसी के द्वारा भी संदिग्ध गतिविधि करते हुए देख तुरन्त उसके खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं। पुलिस ​मुखिया ने कहा कि कानून—व्यवस्था से किसी भी प्रकार की परिस्थिती में खिलवाड़ नहीं होना चाहिए। वहीं सड़कों पर उतरकर उपद्रव करने वालों से सख्ती से निपटने के निर्देश डीजीपी ओपी सिंह ने दिए हैं। वहीं सरकार ने सभी जिलों के जिलाधिकारियों को खुली छूट दी है कि वो अपने जिलों में कानून—व्यवस्था को दुरूस्त रखने के लिए कभी भी धारा 144 लागू कर सकते हैं। गौरतलब हो कि 15 अगस्त तक फील्ड में तैनात सभी पुलिस कर्मियों और अफसरों की छुट्टियां पहले ही रद्द कर दी गई थी।