1. हिन्दी समाचार
  2. Lockdown के बाद ट्रेन में मिडिल बर्थ होगा खाली, रेलवे ने बनाये कुछ नियम

Lockdown के बाद ट्रेन में मिडिल बर्थ होगा खाली, रेलवे ने बनाये कुछ नियम

After The Lockdown The Middle Berth In The Train Will Be Empty The Railways Has Made Some Rules

नई दिल्ली। भारत में कोरोना संकट की वजह से फिल्हाल 21 दिनो का लॉकडाउन चल रहा है लेकिन राज्यों की मांग के बाद ये लॉक डाउन 14 अप्रैल से आगे भी बढ सकता है। लॉकडाउन की वजह से ही भारतीय रेल सेवा भी पूरी तरह से बंद है लेकिन लॉक डाउन के बाद जब भी रेल के सफर की शुरूवात होगी तो कुछ नियमों का पालन करना आवश्यक होगा।

पढ़ें :- चीन भारतीय क्षेत्र में अपने कब्जे का विस्तार कर रहा है लेकिन पीएम खामोश हैं : राहुल गांधी

रेलवे अपनी सेवाओं को एक पूरे प्लान के साथ शुरू करने के पक्ष में है। बताया जा रहा है कि रेलवे सर्विसेज को शुरू करने की स्थितियों में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए कोच में मिडिल बर्थ को खाली रखने और थर्मल चेकिंग जैसे एहतियात को बरतने पर भी जोर दिया जा रहा है। इसके अलावा राज्यों में रेल सेवाओं को शुरू करने से पहले सरकार ने अपने उच्च अधिकारियों को प्रदेश सरकार के अफसरों से बात करने के लिए भी कहा है, जिससे कि प्रदेश में रेलवे की जरूरतों को देखने के बाद ही सेवाओं को शुरू कराया जा सके।

केन्द्र सरकार की तरफ से भी ट्रेन चलाने का कोई इशारा नहीं मिला है। लेकिन जिस दिन से भी ट्रेन चलाने की शुरुआत होगी उसके लिए एक प्लान बनाया गया है। इस प्लान के तहत ट्रेन चलाने के पीछे भी बड़ी वजह बताई जा रही है। लेकिन फिलहाल लॉकडाउन और कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए ट्रेनों के पहिए थमे ही रहेंगे।

अगर यात्री में मिलेंगे ये लक्षण तो ट्रेन से उतारा जायेगा
अगर कोच में सफ़र कर रहे यात्री में खांसी, जुकाम, बुखार आदि जैसे कोरोना वायरस के लक्षण पाए जाते हैं तो टीटीई व अन्य रनिंग स्टाफ यात्री को बीच रास्ते में ट्रेन रुकवा कर नीचे उतार सकते हैं। ट्रेन के सभी चारो दरवाजे बंद रहेंगे। जिससे गैर जरूरी व्यक्ति का प्रवेश नहीं हो सकेगा।

ट्रेन पूरी तरह से नॉन एसी होगी और नॉन स्टाप (एक स्टेशन व दूसरे स्टेशन) चलेगी। जरुरत के मुताबिक, इसे एक या दो स्टेशनों पर रोका जा सकता है। ट्रेन की कोच की साइड बर्थ खाली रहेगी, जिससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा सके। इसके अलावा एक केबिन (छह बर्थ मिलाकर एक केबिन) में सिर्फ दो यात्री सफर करेंगे।

पढ़ें :- भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने बदला अपना लुक, देखने वाले बोले...

ट्रेन में यात्रियों के लिए मास्क लगाना अनिवार्य होगा-स्टेशन व ट्रेन में यात्रियों के लिए मास्क लगाना अनिवार्य होगा। कमोबेश रनिंग स्टाफ को भी मास्क व दस्ताने पहनने जरुरी होंगे। कोच के भीतर बाहरी वेंडर का प्रवेश पूरी तरह से वर्जित होगा।

इन नियमों का भी करना होगा पालन-
एयरपोर्ट की तरह रेल से सफर करने वाले यात्रियों को ट्रेन छूटने 4 घंटे पहले स्टेशन आना होगा। इससे स्टेशन पर यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग की जा सके। स्टेशन पर केवल आरक्षित टिकट वाले यात्री को प्रवेश करने की अनुमति होगी। इस दौरान प्लेटफार्म टिकट नहीं बिक्री नहीं होगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...