डोभाल के बेटे ने कांग्रेस नेता और ‘कारवां पत्रिका’ पर किया मानहानि का केस

ajit dogwal
डोभाल के बेटे ने कांग्रेस नेता और कारवां पत्रिका पर किया मानहानि का केस

नई दिल्ली। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल के बेटे विवेक डोभाल ने अपने खिलाफ खबर छापने वाली अंग्रेजी मैगजीन द कारवां के संपादक, रिपोर्टर और कांग्रेस नेता जयराम रमेश के खिलाफ दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में आपराधिक मानहानि का मामला दर्ज कराया है। इस मामले की मंगलवार को सुनवाई हो सकती है।

Against Articles Published In Caravan Nsa Ajit Dovals Son Vivek Filed Complaint In Court :

विवेक डोभाल की दलील है कि मैगजीन में छपा आलेख गलत, भ्रामक और आधारहीन तथ्यों पर आधारित है जिसे वो कोर्ट में साबित कर देंगे। उन्होंने अपनी अपील में कहा है कि इस गलत लेख को आधार बनाकर बयान देने और टिप्पणी करने वालों ने भी तथ्यों की छानबीन नहीं की। लिहाजा वे भी इसमें बराबर के हिस्सेदार हैं।

गौरतलब है कि अंग्रेजी मैगजीन द कारवां ने अपनी रिपोर्ट में खुलासा किया था कि प्रधानमंत्री द्वारा नोटबंदी की घोषणा के 13 दिन बाद NSA अजीत डोभाल के बेटे विवेक डोभाल ने केमैन आईलैंड में जीएनवाई एशिया फंड नाम की हेज फंड (निवेश निधि) कंपनी का पंजीकरण कराया।

रिपोर्ट के मुताबिक विवेक डोभाल का व्यवसाय उनके भाई शौर्य डोभाल से जुड़ा है। शौर्य डोभाल इंडिया फाउंडेशन नामक थिंक टैंक के प्रमुख हैं जो केंद्र की मोदी सरकार की करीबी मानी जाती है। पत्रिका ने अपनी रिपोर्ट में यह भी खुलासा किया कि अप्रैल 2017 से मार्च 2018 तक केमैन आईलैंड से 8300 करोड़ रुपये का विदेशी निवेश भारत आया, जो पिछले वर्ष की तुलना में 2226 फीसदी ज्यादा था।

नई दिल्ली। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल के बेटे विवेक डोभाल ने अपने खिलाफ खबर छापने वाली अंग्रेजी मैगजीन द कारवां के संपादक, रिपोर्टर और कांग्रेस नेता जयराम रमेश के खिलाफ दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में आपराधिक मानहानि का मामला दर्ज कराया है। इस मामले की मंगलवार को सुनवाई हो सकती है। विवेक डोभाल की दलील है कि मैगजीन में छपा आलेख गलत, भ्रामक और आधारहीन तथ्यों पर आधारित है जिसे वो कोर्ट में साबित कर देंगे। उन्होंने अपनी अपील में कहा है कि इस गलत लेख को आधार बनाकर बयान देने और टिप्पणी करने वालों ने भी तथ्यों की छानबीन नहीं की। लिहाजा वे भी इसमें बराबर के हिस्सेदार हैं। गौरतलब है कि अंग्रेजी मैगजीन द कारवां ने अपनी रिपोर्ट में खुलासा किया था कि प्रधानमंत्री द्वारा नोटबंदी की घोषणा के 13 दिन बाद NSA अजीत डोभाल के बेटे विवेक डोभाल ने केमैन आईलैंड में जीएनवाई एशिया फंड नाम की हेज फंड (निवेश निधि) कंपनी का पंजीकरण कराया। रिपोर्ट के मुताबिक विवेक डोभाल का व्यवसाय उनके भाई शौर्य डोभाल से जुड़ा है। शौर्य डोभाल इंडिया फाउंडेशन नामक थिंक टैंक के प्रमुख हैं जो केंद्र की मोदी सरकार की करीबी मानी जाती है। पत्रिका ने अपनी रिपोर्ट में यह भी खुलासा किया कि अप्रैल 2017 से मार्च 2018 तक केमैन आईलैंड से 8300 करोड़ रुपये का विदेशी निवेश भारत आया, जो पिछले वर्ष की तुलना में 2226 फीसदी ज्यादा था।