1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Agnipath Agniveer Protest: मोदी सरकार को 72 घंटे का अल्टीमेटम,18 जून को बिहार बंद में लालू भी आए युवाओं के सा​थ

Agnipath Agniveer Protest: मोदी सरकार को 72 घंटे का अल्टीमेटम,18 जून को बिहार बंद में लालू भी आए युवाओं के सा​थ

Agnipath Agniveer Protest: केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government)ने सेना में अनुबंध प्रणाली लाने वाली अग्निपथ योजना का विरोध बढ़ता ही जा रहा है। इसको अविलंब वापस लेने के सवाल पर बिहार के छात्र-युवा संगठन आइसा-इनौस, रोजगार संघर्ष संयुक्त मोर्चा (Rojagar Sangharsh Sanyukt Morcha) और सेना भर्ती जवान मोर्चा (Army Recruitment Jawan Morcha)  ने विरोध का बिगुल फूंक दिया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Agnipath Agniveer Protest: केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government)ने सेना में अनुबंध प्रणाली लाने वाली अग्निपथ योजना का विरोध बढ़ता ही जा रहा है। इसको अविलंब वापस लेने के सवाल पर बिहार के छात्र-युवा संगठन आइसा-इनौस, रोजगार संघर्ष संयुक्त मोर्चा (Rojagar Sangharsh Sanyukt Morcha) और सेना भर्ती जवान मोर्चा (Army Recruitment Jawan Morcha)  ने विरोध का बिगुल फूंक दिया है। इन संगठनों ने मोदी सरकार को 72 घण्टे का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि यदि सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ और युवाओं का मजाक उड़ाने वाली इस योजना को वापस नहीं लेती, तो 18 को बिहार बन्द और फिर भारत बंद की ओर बढ़ेंगे। वहीं बिहार के प्रमुख राजनीतिक दल राष्ट्रीय जनता दल (Rashtriya Janata Dal) ने भी 18 जून को बिहार बंद का ऐलान किया है।

पढ़ें :- बिहार की जनता से लालू यादव की भावुक अपील, कहा-मैं लड़ता रहा जीवन भर न्याय के लिए अब समय आ गया है तुम उठो, तुम भी लड़ो

सेना भर्ती जवान मोर्चा (Army Recruitment Jawan Morcha) के संयोजक राजू यादव, इनौस के राष्ट्रीय अध्यक्ष व अगिआंव विधायक मनोज मंजिल, आइसा के महासचिव व पालीगंज विधायक संदीप सौरभ, इनौस के सम्मानित बिहार राज्य अध्यक्ष व डुमराँव विधायक अजीत कुशवाहा, इनौस के राज्य अध्यक्ष आफताब आलम, राज्य सचिव शिवप्रकाश रंजन, आइसा के राज्य सचिव सबीर कुमार और राज्य अध्यक्ष विकास यादव ने आज संयुक्त बयान जारी करके उक्त बातें कहीं।

छात्र-युवा नेताओं ने कहा कि यह योजना एक तरफ युवाओं के साथ क्रूर मजाक है तो दूसरी ओर देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ है। सेना की पूरी सरंचना को तहस-नहस करने वाली इस योजना को देश कभी स्वीकार नहीं करेगा। सेना के रिटायर्ड अधिकारी भी इसकी खुलकर मुखालफत पर उतर आए हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...