एलएंडटी कंपनी पर 32 करोड़ का जुर्माना, आगरा एक्सप्रेस-वे पर हुआ अवैध खनन

लखनऊ। तत्कालीन अखिलेश सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट आगरा एक्सप्रेस-वे का प्रोजेक्ट योगी सरकार आते ही विवादों में आ गया। आगरा एक्सप्रेस-वे के किनारे मिटटी खनन को लेकर लखनऊ के जिलाधिकारी ने एलएंडटी कंपनी पर 32 करोड़ रुपये का जुर्माना ठोंक दिया है। इस पूरे मामले की जांच के लिये एक कमेटी का गठन भी कर दिया गया है।

एलएंडटी कंपनी ने इस क्षेत्र में तय मानकों से अधिक की खुदाई कर दी। जिसकी वजह से सड़क के दरकने का खतरा पैदा हो गया। यह खुदाई लखनऊ सहित हरदोई के कुछ क्षेत्रों में भी की गई। मामला का खुलासा होने के बाद जांच शुरू हुई और शिकायत सही पाई गयी। इसके बाद डीएम कैशल राज शर्मा ने खनन अधिनियमों के तहत कंपनी पर कार्रवाई की।

{ यह भी पढ़ें:- नबावी नगरी पर प्रदूषण का साया, जल्द बैन होंगी 15 साल पुरानी डीजल-पेट्रोल गाड़ियां }

इस मामले में 32 करोड़ रुपये जुर्माना जमा करने के आदेश दिए गए हैं। अन्य जिलों में भी जुर्माने की कार्रवाई की गई है। कुछ जगहों पर कंपनी ने जुर्माना जमा भी कर दिया है। यूपीडा के चेयरमैन अवनीश अवस्थी के मुताबिक़ कंपनी के खिलाफ मानकों के विपरीत मिट्टी खनन की शिकायतें मिली थीं। इस पर डीएम लखनऊ ने कार्रवाई की है। इसके साथ ही मामले की जांच के लिए यूपीडा के चीफ इंजीनियर के साथ कुछ अन्य अधिकारियों की एक टीम बनाकर जांच के आदेश भी दिए हैं।

{ यह भी पढ़ें:- अवैध खनन के खिलाफ सीएम योगी की बड़ी कार्रवाई, छह निलंबित }

Loading...