आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन आज

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपने पिता समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के 78वें जन्मदिन की पूर्व संध्या (21 नवम्बर) पर छह लेन वाले अपने ड्रीम प्रोजेक्ट आगरा-लखनऊ ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन करेंगे। इस मौके पर उन्नाव के बांगरमऊ क्षेत्र में खंभौली में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव भी मौजूद रहेंगे। इसके साथ ही पार्टी की सांसद जया बच्चन, सरकार के मंत्री, पार्टी के नेता सहित बड़ी संख्या में वीवीआईपी का जमावड़ा होगा। उद्घाटन समारोह में जेट विमानों द्वारा एयर शो के साथ एक्सप्रेस-वे पर लैंडिंग का प्रदर्शन भी किया जाएगा।302 किलोमीटर लम्बा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का ड्रीम प्रोजेक्ट है। यह परियोजना Rs 13200 करोड़ की लागत से 23 माह के रिकार्ड समय में पूर्ण की गई है।




अगले माह एक्सप्रेस-वे को आम आदमी के लिए खोल दिया जायेगा। एक्सप्रेस वे की निर्माण गुणवत्ता के लिए भारतीय वायुसेना के 11 जेट विमानों को इस पर उतारा जायेगा। समारोह के दौरान जेट विमान आसमान में तिरंगा बनायेंगे । आठ विमानों के गत शुक्रवार को एक्सप्रेस -वे पर उतरने, उड़ने तथा एयर शो का ट्रायल किया गया था। एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य शीघता से पूरा कराने में उत्तर प्रदेश औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुखिया वरिष्ठ आईएएस अधिकारी नवनीत सहगल की महत्वपूर्ण भूमिका रही। लेकिन श्री सहगल एक्सप्रेस-वे उद्घाटन समारोह में शिरकत नहीं कर सकेंगे। वह गत दिनों मार्ग दुर्घटना में घायल हो गए थे।आगरा- लखनऊ एक्सप्रेस वे पर उन्नाव, हरदोई, कानपुर, कन्नौज, इटावा, मैनपुरी और फिरोजाबाद पड़ते हैं। इस मार्ग के शुरू हो जाने पर लखनऊ से आगरा का सफर साढे तीन घंटे और दिल्ली का साढ़े पांच घंटे में तय किया जा सकेगा।




सरकार द्वारा इसके निर्माण के लिए 30 हजार 456 किसानों की साढ़े तीन हजार हेक्टेयर भूमि बिना किसी विवाद के अधिग्रहीत की गयी। इस एक्सप्रेस वे के किनारे सरकार द्वारा मैनपुरी और कन्नौज में कृषि मण्डियों की स्थापना की जा रही है। ग्रीन बेल्ट तैयार करने के लिए एक्सप्रेस वे के दोनों ओर तीन लाख पौधे भी रोपे गये हैं। भारतीय वायुसेना ने युद्धक जेट विमानों की लैंडिंग के लिए एक्सप्रेस वे पर बांगरमऊ एवं गंज मुरादाबाद के बीच तीन किलोमीटर के हिस्से का चयन किया है ।