1. हिन्दी समाचार
  2. विपक्ष के हंगामे के बीच कृषि विधेयक पास, कृषि मंत्री ने कांग्रेस पर लगाया ‘गुंडागर्दी’ का आरोप

विपक्ष के हंगामे के बीच कृषि विधेयक पास, कृषि मंत्री ने कांग्रेस पर लगाया ‘गुंडागर्दी’ का आरोप

Agriculture Bill Passed Amid Opposition Uproar Agriculture Minister Accuses Congress Of Hooliganism

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। कृषि से संबंधित दो बिल विपक्ष के हंगामे के बाद राज्यसभा में पास हो गए हैं। कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक, 2020 और कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक, 2020 ध्वनि मत से पारित हुए हैं। उच्च सदन में बिल के पास होने के दौरान विपक्ष ने खूब हंगामा किया।

पढ़ें :- बीजेपी ने जारी की लालू राज की डिक्शनरी....क से क्राइम, ख से खतरा, ग से गोली...

कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के सांसदों ने जमकर नारेबाजी की। टीएमसी के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने रूल बुक को फाड़ दिया और माइक भी तोड़ दिया। कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कृषि उपज और कीमत आश्वासन संबंधी विधेयकों को ‘किसान हितैषी बताते हुए कहा कि किसानों की उपज की, न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की व्यवस्था के तहत खरीद हो रही है और यह आगे भी जारी रहेगी।

राज्यसभा में कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी दलों के सदस्यों ने कृषि संबंधी दो विधेयकों को किसान विरोधी करार देते हुए आसन के समीप आकर भारी हंगामा किया। विपक्षी सदस्यों के हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही कुछ देर स्थगित करनी पड़ी।

इन विधेयकों पर कई विपक्षी दलों का तर्क है कि यह विधेयक एमएसपी प्रणाली द्वारा किसानों को प्रदान किए गए सुरक्षा कवच को कमजोर कर देंगे और बड़ी कंपनियों द्वारा किसानों के शोषण की स्थिति को जन्म देंगे। चर्चा के दौरान कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, शिरोमणि अकाली दल जैसे दलों ने विधेयक को संसद की प्रवर समिति को भेजने की मांग की।

इसके साथ ही केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा, ‘विभिन्न आयोगों और विशेषज्ञों की सिफारिशों के बावजूद, कांग्रेस ने उन किसानों के साथ कभी न्याय नहीं किया जो खुद को वर्षों से असहाय महसूस कर रहे थे। आज जब कांग्रेस को एहसास हुआ कि राज्यसभा में उनके पास समर्थन नहीं है, तो उन्होंने ‘गुंडागर्दी’ का सहारा लिया।’

पढ़ें :- संजय सिंह ने बोला यूपी सरकार पर हमला, कहा-सत्ता में आए तो दिल्ली मॉडल उत्तर प्रदेश में लागू होगा

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...