अहंकार में चूर अखिलेश बाप को गाली मिलने पर मुस्कराते थे: सपा नेता

लखनऊ। यूपी चुनाव मे करारी शिकस्त मिलने के बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव को अपने ही लोगों से आए दिन खरी-खोटी सुनने को मिल रही है। हार के बाद पहले पिता मुलायम ने अखिलेश पर हमला किया फिर चाचा शिवपाल ने निशाना साधा और अब पार्टी के एक कार्यकर्ता ने चिट्ठी के माध्यम से अखिलेश को आईना दिखाया है। सुधीर सिंह नामक सपा नेता ने अखिलेश को लेटर लिख नया बम फोड़ा है। इस नेता ने अखिलेश के सामने रावण की उपमा रखते हुए लिखा है कि इस धरती पर रावण का भी अहंकार चकनाचूर हो गया था फिर हम-आप क्या चीज़ है। सिंह ने आगे लिखा है कि हार से आपने कोई सबक नहीं लिया है। आप कुछ लोगों के चंगुल में फंसे हुए हैं।




चाटुकारों के भरोसे मुख्यमंत्री नहीं बना जा सकता 
सपा नेता ने लिखा कि आप हार की मंडलवार समीक्षा कर रहे हैं, लेकिन आपको 5 सालों से आपकी सरकार चलाने वाले 9 रत्नों के गुट की बूथवार समीक्षा करना चाहिए। जिनके पास साइकिल नहीं थी, वे अब बीएमडब्ल्यू के काफिले में चल रहे हैं। आप कुछ चाटुकारों की द्वारा बनाई गई काल्पनिक लहर में गोते लगाकर दोबारा सीएम बनने के सपने देखते रहे। इस घंमड में चूर होकर आपने संघर्ष के बलबूते पार्टी को खड़े करने वाले शिवपाल यादव को दो-दो बार बेइज्जत करके बाहर निकाला।



बाप-चाचा को गाली मिलने पर मुस्करा रहे थे
सुधीर ने अपने खत में आगे लिखा है कि जिस बाप ने अपने जीवन भर की कमाई आप को सौप दी उसको जब आपके चाटुकार गालियां दे रहे थे तो आप मुस्करा रहे थे। आपने शकुनि रामगोपाल यादव के कहने पर अपने पिता को अध्यक्ष पद से हटा दिया। आप घमंड में इतने चूर थे कि चार-चार बार विधायक रहे लोगों का टिकट काटकर कल के लड़कों को टिकट दे दिया।  इस लेटर में अखिलेश के काम को लेकर भी सवाल उठाए गए हैं।