कोई नहीं चाहता मुंबई से अहमदाबाद जाना, नागपुर तक बुलेट ट्रेन चलाएं मोदी : उद्धव ठाकरे

नई दिल्ली। लोकसभा में केन्द्र सरकार के विरोध में आए अविश्वास प्रस्ताव से दूरी बनाने के बाद शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने सामना को दिए एक इंटरव्यू में कहा है कि शिव सेना किसी एक पार्टी की दोस्त नहीं हैं। उन्होने कहा कि जनता से उनकी दोस्ती हैं और वो उसी के लिए काम करना चाहते है। उन्होंने कहा कि जो बात मुझे नहीं पसंद होगी, उसके बारे में अपनी बेबाक राय रखता रहूंगा।

Ahivsena President Says We Are Fighting For People :

उन्होंने शिवसेना के मुखपत्र सामना को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘मैं मोदी के सपनों के लिए नहीं आम जनता के सपनों के लिए लड़ रहा हूं।’ पीएम के ड्रीम प्रोजेक्ट बुलेट ट्रेन के बारे में पूछे गए एक सवाल पर उन्होने कहा कि ‘पहले वह (मोदी) मुंबई के हीरा व्‍यापारियों को गुजरात ले गए। एयर इंडिया को भी हटा दिया गया। उन्होने कहा कि मुंबई से अहमदाबाद कोई नही जाना चाहता है,इससे तो अच्छा है कि नागपुर को मुंबई से बुलेट ट्रेन के माध्यम से जोड़ देना चाहिए।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिव सेना लोगों के हित में सरकार पर अंकुश लगाने का काम कर ही है और चार साल पहले जो बात वो अकेले कहते थे, आज उसे सभी लोग मान रहे हैंं विरोध के बाद भी सरकार में बने रहने के सवाल पर ठाकरे ने कहा कि इसका इस्तेमाल जनता की भलाई में कर रहे हैं। बता दें कि सं​सद में सरकार के खिलाफ दाखिल किए गए अविश्वास प्रस्ताव में पहले तो शिवसेना ने सरकार के पक्ष में वोट करने को ​कहा था, लेकिन बाद पार्टी ने अविश्वास प्रस्ताव का बहिस्कार कर दिया।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमने सरकार की किसी नीति का विरोध किया तो किसी व्यक्तिगत द्वेष के कारण नहीं, बल्कि देश की जनता के हित के लिए ऐसा किया है। उनका कहना था कि उन्होने कभी कुछ छिपकर नही किया है, जब खुलकर समर्थन कर सकते हैं , विरोध भी खुलकर कर सकते है।

नई दिल्ली। लोकसभा में केन्द्र सरकार के विरोध में आए अविश्वास प्रस्ताव से दूरी बनाने के बाद शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने सामना को दिए एक इंटरव्यू में कहा है कि शिव सेना किसी एक पार्टी की दोस्त नहीं हैं। उन्होने कहा कि जनता से उनकी दोस्ती हैं और वो उसी के लिए काम करना चाहते है। उन्होंने कहा कि जो बात मुझे नहीं पसंद होगी, उसके बारे में अपनी बेबाक राय रखता रहूंगा। उन्होंने शिवसेना के मुखपत्र सामना को दिए इंटरव्यू में कहा, 'मैं मोदी के सपनों के लिए नहीं आम जनता के सपनों के लिए लड़ रहा हूं।' पीएम के ड्रीम प्रोजेक्ट बुलेट ट्रेन के बारे में पूछे गए एक सवाल पर उन्होने कहा कि 'पहले वह (मोदी) मुंबई के हीरा व्‍यापारियों को गुजरात ले गए। एयर इंडिया को भी हटा दिया गया। उन्होने कहा कि मुंबई से अहमदाबाद कोई नही जाना चाहता है,इससे तो अच्छा है कि नागपुर को मुंबई से बुलेट ट्रेन के माध्यम से जोड़ देना चाहिए। उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिव सेना लोगों के हित में सरकार पर अंकुश लगाने का काम कर ही है और चार साल पहले जो बात वो अकेले कहते थे, आज उसे सभी लोग मान रहे हैंं विरोध के बाद भी सरकार में बने रहने के सवाल पर ठाकरे ने कहा कि इसका इस्तेमाल जनता की भलाई में कर रहे हैं। बता दें कि सं​सद में सरकार के खिलाफ दाखिल किए गए अविश्वास प्रस्ताव में पहले तो शिवसेना ने सरकार के पक्ष में वोट करने को ​कहा था, लेकिन बाद पार्टी ने अविश्वास प्रस्ताव का बहिस्कार कर दिया। उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमने सरकार की किसी नीति का विरोध किया तो किसी व्यक्तिगत द्वेष के कारण नहीं, बल्कि देश की जनता के हित के लिए ऐसा किया है। उनका कहना था कि उन्होने कभी कुछ छिपकर नही किया है, जब खुलकर समर्थन कर सकते हैं , विरोध भी खुलकर कर सकते है।