एम्स के डायरेक्टर ने कहा, देश के कई हिस्सों में कोरोना तीसरी स्टेज पर पहुंचा

COVID-19
शरीर में खून के थक्के जमा रहा ​कोरोना, किडनी, फेफड़े और मस्तिष्क सर्वाधिक प्रभावित, अमेरिकी डॉक्टर हैरान

नई दिल्ली: भारत सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद देश में कोरोना के मरीजों की संख्या 4000 के पार पहुंच गई है, जबकि इस बीमारी से अभी तक 109 लोग दम तोड़ चुके हैं। इस बीच, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि देश के कुछ हिस्सों में कोरोना तीसरी स्टेज में पहुंच चुका है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि देश अभी कोरोना के मामले में दूसरी स्टेज पर ही है। अगर हम इसे रोकने में कामयाब रहे तो यह स्टेज दो पर ही रहेगा।

Aiims Director Said Corona Reached Third Stage In Many Parts Of The Country :

एक टीवी चैनल से बातचीत में डॉक्टर गुलेरिया ने कहा कि दुनिया के हिसाब से देखे तो हमारी स्थिति ठीक है। दुनिया में जितने केस आए है उसके मुकाबले हमारे यहां बहुत कम मामले हैं। अब यहां टेस्टिंग ज्यादा हो रही है उसमें मामले कम निकल रहे हैं लेकिन चिंता का विषय भी है क्योंकि कई जगह हॉट स्पॉट बन रहे हैं। जहां पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों के केस एकदम से बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि हमारे यहां केस डबलिंग का जो टाइम था वो बढा हुआ है। कुछ एरिया में कम्युनिटी स्प्रेड हो रहा है उसे होने से रोकना होगा। इसके लिए हमें लॉकडाउन को पालन करना होगा और यह तभी हो सकेगा जब हमें हर किसी को घर से निकलने से रोकना होगा।

डॉक्टर गुलेरिया ने बताया कि जहां पर हम ट्रेस नहीं कर पा रहे हो कि मामला कहां से शुरू हुआ है। वहां कम्युनिटी स्प्रेड है। उन्होंने कहा कि ऐसे केस मुंबई में सामने आए और कुछ अन्य राज्य में सामने आए हैं। कुछ एरिया में लोकल स्प्रेड का शक है। भारत में कोरोनावायरस के संक्रमण से 109 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि पूरे देश में इसके संक्रमण के कुल मामले 4067 हो चुके हैं। सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में सामने आए है जहां कोविड के मरीजों की संख्या 700 तक पहुंच गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, रविवार की शाम के बाद अब तक देश में कोरोना संक्रमण के करीब 490 नये मामले सामने आए हैं जबकि इस दौरान इस घातक वायरस ने 26 लोगों की जान ले ली है।

बता दें कि रविवार की षाम तक कोरानावायरस संक्रमण के देशभर में कुल 3,577 मामले आए थे जबकि इससे 83 लोगों की मौत हो चुकी थी। सोमवार की सुबह नौ बजे मंत्रालय की वेबसाइट पर अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार, कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामले यानी जिनका इलाज चल रहा है उनकी संख्या 3,666 जबकि इस बीमारी से निजात पाकर स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 291 थी। जानकारी के अनुसार, कोरोना के कुल मामलों में 30 फीसदी तब्लीगी जमात से जुड़े हैं।

नई दिल्ली: भारत सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद देश में कोरोना के मरीजों की संख्या 4000 के पार पहुंच गई है, जबकि इस बीमारी से अभी तक 109 लोग दम तोड़ चुके हैं। इस बीच, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि देश के कुछ हिस्सों में कोरोना तीसरी स्टेज में पहुंच चुका है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि देश अभी कोरोना के मामले में दूसरी स्टेज पर ही है। अगर हम इसे रोकने में कामयाब रहे तो यह स्टेज दो पर ही रहेगा। एक टीवी चैनल से बातचीत में डॉक्टर गुलेरिया ने कहा कि दुनिया के हिसाब से देखे तो हमारी स्थिति ठीक है। दुनिया में जितने केस आए है उसके मुकाबले हमारे यहां बहुत कम मामले हैं। अब यहां टेस्टिंग ज्यादा हो रही है उसमें मामले कम निकल रहे हैं लेकिन चिंता का विषय भी है क्योंकि कई जगह हॉट स्पॉट बन रहे हैं। जहां पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों के केस एकदम से बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि हमारे यहां केस डबलिंग का जो टाइम था वो बढा हुआ है। कुछ एरिया में कम्युनिटी स्प्रेड हो रहा है उसे होने से रोकना होगा। इसके लिए हमें लॉकडाउन को पालन करना होगा और यह तभी हो सकेगा जब हमें हर किसी को घर से निकलने से रोकना होगा। डॉक्टर गुलेरिया ने बताया कि जहां पर हम ट्रेस नहीं कर पा रहे हो कि मामला कहां से शुरू हुआ है। वहां कम्युनिटी स्प्रेड है। उन्होंने कहा कि ऐसे केस मुंबई में सामने आए और कुछ अन्य राज्य में सामने आए हैं। कुछ एरिया में लोकल स्प्रेड का शक है। भारत में कोरोनावायरस के संक्रमण से 109 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि पूरे देश में इसके संक्रमण के कुल मामले 4067 हो चुके हैं। सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में सामने आए है जहां कोविड के मरीजों की संख्या 700 तक पहुंच गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, रविवार की शाम के बाद अब तक देश में कोरोना संक्रमण के करीब 490 नये मामले सामने आए हैं जबकि इस दौरान इस घातक वायरस ने 26 लोगों की जान ले ली है। बता दें कि रविवार की षाम तक कोरानावायरस संक्रमण के देशभर में कुल 3,577 मामले आए थे जबकि इससे 83 लोगों की मौत हो चुकी थी। सोमवार की सुबह नौ बजे मंत्रालय की वेबसाइट पर अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार, कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामले यानी जिनका इलाज चल रहा है उनकी संख्या 3,666 जबकि इस बीमारी से निजात पाकर स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 291 थी। जानकारी के अनुसार, कोरोना के कुल मामलों में 30 फीसदी तब्लीगी जमात से जुड़े हैं।