32,000 फीट की ऊंचाई पर फ्लाइट में आई तकनीकि खराबी, यात्रियों के उड़े होश

32,000 फीट की ऊंचाई पर फ्लाइट में आई तकनीकि खराबी, यात्रियों के उड़े होश

सिड़नी: आॅस्ट्रेलिया के पर्थ से इंडोनेशिया के बाली जा रही एयर एशिया की फ्लाइट संख्या QZ535 उड़ान भरने के 25 मिनट बाद ही तकनीकि खराबी का शिकार हो गई। करीब 32 हजार फीट की ऊंचाई पर उड़ान भर रहा​ विमान के केबिन का वायुदाव एकाएक कम हो गया। यात्रियों के सामने आॅक्सीजन मॉस्क आ गिरे और विमान में एकाएक दहशत फैल गई। इससे पहले कि क्रू मेंबर प्रतिक्रिया करता यात्रियों ने अपने मोबाइल निकाल लिए और अपने परिजनों को संदेश भेजना शुरू कर दिया। वहीं दूसरी ओर फ्लाइट के पायलट दल ने एयरपोर्ट से सम्पर्क साधते हुए, विमान को वापस एयरपोर्ट पर लैंड करवा दिया।  रविवार को घटी इस घटना का वीडियो भी एक समाचार चैनल की ओर यूट्यूब पर अपलोड किया गया है।

एयर एशिया की ओर से कहा गया है कि यह घटना विमान में आई तकनीकि खराबी की वजह से घटी है। ऐसा प्रतीत होता है कि विमान से कोई पक्षी टकराया होगा, फिलहाल विमान की तकनीकि जांच चल रही है। तकनीकि खराबी आने के बाद फ्लाइट एकाएक 22,000 फीट नीचे आ गई।

{ यह भी पढ़ें:- सिडनी: वानातू में 7.3 तीव्रता का भूकंप }

विमान में सवार यात्रियों का कहना है कि जिस तरह से विमान एकाएक नीचे आया और सीलिंग से आॅक्सीजन मॉस्क नीचे गिरे लोगों को किसी बड़ी अनहोनी का अंदेशा हो गया था। सभी यात्रियों के चेहरे पर दहशत नजर आ रही थी। कोई अपने मोबाइल को आॅन कर अपने घरवालों को संदेश भेजना चाह रहा था। सभी के चेहरे पर मौत का खौफ नजर आ रहा था।

एयर एशिया की ओर से यात्रियों से मांफी मांगी गई है। एयरलाइन ने आधिकारिक रूप से अपना बयान जारी करते हुए कहा है कि यात्रियों और क्रू मैंबर्स की सुरक्षा उनकी प्राथमिकता रही है।

पिछले कुछ महीनों में एयर एशिया के विमानों के साथ ऐसे ही हादसे हो चुके है। जुलाई में एयर एशिया गोल्ड कोस्ट की कुआलालंपुर जा रही फ्लाइट को वापस बुलाया गया था। इसमें परिंदे के प्लेन से टकराने की आशंका जताई गई थी। सितंबर में दो बार ऐसी घटनाएं घट चुकीं हैं जब डलास जा रही क्वांटास की फ्लाइट को सिडनी वापस बुलाना पड़ा। सितंबर में ही जोहनसबर्ग जा रहे प्लेन को भी सिडनी बुला लिया गया था। उस वक्त प्लेन की खिड़की का कांच टूट गया था।

Loading...