छह महीने से पांच साल तक कर्मचारियों को बिना वेतन छुट्टी पर भेजेगा एयर इंडिया

air india
छह महीने से पांच साल तक कर्मचारियों को बिना वेतन छुट्टी पर भेजेगा एयर इंडिया

नई दिल्ली। सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया अपने कुछ कर्मचा​रियों को लेकर बड़ा फैसला लेने की तैयारी में है। एयर इंडिया अपने कुछ कर्मचारियों को बिना वेतन दिए उन्हें छह महीने से पांच साल तक छुट्टी पर भेजने की तैयारी कर रही है। सोमवाार को कंपनी के द्वारा इसको लेकर बयान जारी किया गया है। बताया जा रहा है कि छुट्टी पर भेजे गए कर्मचारियों को एयर इंडिया वेतन नहीं देगी।

Air India Will Send Employees On Leave Without Pay For Six Months To Five Years :

आधिकारिक आदेश में कहा गया, ‘यह योजना (LWP) बिना वेतन और स्थायी कर्मचारियों के लिए भत्ते के अनुदान के लिए शुरू की जा रही है। इसमें कर्मचारी छह महीने से लेकर पांच साल की अवधि तक के लिए छुट्टी पर भेजे जा सकते हैं।’ यह योजना कंपनी के स्थायी कर्मचारियों के लिए लागू होगी।

एयर इंडिया के जारी आदेश में कहा गया है कि सात जुलाई 2020 को संपन्न हुई बोर्ड आॅफ डायरेक्टर्स की 102वीं बैठक में योजना को मंजूरी दी गई। इसमें कर्मचारी छह महीने से लेकर दो साल तक, जिसको पांच साल तक बढ़ाया भी जा सकता है, छुट्टी पर जाने का विकल्प का फायदा उठा सकते हैं।’

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस की महामारी की वजह से भारत और अन्य देशों में यात्रा पर लगे प्रतिबंध की वजह से विमानन कंपनियों पर बहुत अधिक असर हुआ है।

 

नई दिल्ली। सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया अपने कुछ कर्मचा​रियों को लेकर बड़ा फैसला लेने की तैयारी में है। एयर इंडिया अपने कुछ कर्मचारियों को बिना वेतन दिए उन्हें छह महीने से पांच साल तक छुट्टी पर भेजने की तैयारी कर रही है। सोमवाार को कंपनी के द्वारा इसको लेकर बयान जारी किया गया है। बताया जा रहा है कि छुट्टी पर भेजे गए कर्मचारियों को एयर इंडिया वेतन नहीं देगी। आधिकारिक आदेश में कहा गया, 'यह योजना (LWP) बिना वेतन और स्थायी कर्मचारियों के लिए भत्ते के अनुदान के लिए शुरू की जा रही है। इसमें कर्मचारी छह महीने से लेकर पांच साल की अवधि तक के लिए छुट्टी पर भेजे जा सकते हैं।' यह योजना कंपनी के स्थायी कर्मचारियों के लिए लागू होगी। एयर इंडिया के जारी आदेश में कहा गया है कि सात जुलाई 2020 को संपन्न हुई बोर्ड आॅफ डायरेक्टर्स की 102वीं बैठक में योजना को मंजूरी दी गई। इसमें कर्मचारी छह महीने से लेकर दो साल तक, जिसको पांच साल तक बढ़ाया भी जा सकता है, छुट्टी पर जाने का विकल्प का फायदा उठा सकते हैं।' उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस की महामारी की वजह से भारत और अन्य देशों में यात्रा पर लगे प्रतिबंध की वजह से विमानन कंपनियों पर बहुत अधिक असर हुआ है।