1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. सोमालिया में अल-शबाब की कमर तोड़ने के लिए हुई एयरस्ट्राइक, आतंकियों के मंसूबे पर हफ्ते में दूसरी बार हमला

सोमालिया में अल-शबाब की कमर तोड़ने के लिए हुई एयरस्ट्राइक, आतंकियों के मंसूबे पर हफ्ते में दूसरी बार हमला

सोमालिया में आतंकी संगठन अल-शबाब (Terrorist organization al-Shabaab) को राख करने के लिए US ने एयरस्ट्राइक (Airstrike) की। ये हमला मध्य सोमालिया के गालमुदुग इलाके में के यसाद क्षेत्र के आस-पास किया गया था।

By अनूप कुमार 
Updated Date

नई दिल्ली: सोमालिया में आतंकी संगठन अल-शबाब (Terrorist organization al-Shabaab) को राख करने के लिए US ने एयरस्ट्राइक (Airstrike) की। ये हमला मध्य सोमालिया के गालमुदुग इलाके में के यसाद क्षेत्र के आस-पास किया गया था। चरमपंथी समूह के खिलाफ इस हफ्ते शुक्रवार को दूसरी बार हवाई हमला (air attack) किया। एयरस्ट्राइक अमेरिकी बलों (US forces) के द्वारा किया गया।अल-शबाब यूनियन ऑफ इस्लामिक कोर्ट्स (Union of Islamic Courts) की ही एक कट्टरपंथी शाखा है। जिसके मंसूबे को खाक में मिलाने के लिए अमेरिकी बलों ने ये हमला किया है।अल-कायदा आतंकवादी नेटवर्क से संबद्ध संगठन अल-शबाब सोमालिया की सरकार को गिराने की कोशिश कर रहा है।अल-शबाब चाहता है कि सोमालिया में इस्लामिक शरिया कानून (islamic sharia law) स्थापित हो।

पढ़ें :- Donald Trump बोले- 'पीएम मोदी महान शख्सियत', मुझसे अच्छा भारत का कोई दोस्त नहीं

राष्ट्रपति जो बाइडेन (President Joe Biden) के जनवरी में पद संभालने के बाद से पहला ऐसा हमला था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पेंटागन (pentagon)ने एक संक्षिप्त बयान में कहा कि यह हमला सोमाली साझेदार बलों के समर्थन में किया गया और इसलिए सैन्य बल के प्रयोग के लिए मौजूदा कांग्रेस के प्राधिकरण के तहत अनुमति दी गई थी। पेंटागन की प्रवक्ता सिंडी किंग ने कहा कि हवाई हमले सोमाली सरकार के साथ समन्वय कर किए गए थे।
बता दें कि अमेरिका ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल के अंतिम दिनों में सोमालिया से अपने ज्यादातर सैनिकों को हटा लिया था। जहां उन्हें आस-पास के देशों में भेज दिया गया था।

आतंकी संगठन अल-शबाब का जन्म 2006 में हुआ। मोगादिशू शहर यूनियन ऑफ इस्लामिक कोर्ट्स के कब्जे में था, जो कि शरिया अदालतों का एक संगठन था। इसका मुखिया शरीफ शेख अहमद था। 2006 में इथियोपिया की सेना ने इस संगठन को हरा दिया और अल-शबाब का जन्म हुआ।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...