आरकॉम के बाद एयरटेल बंद करने जा रही ये सर्विस, यूजर्स को हो सकती है परेशानी

airtel

नई दिल्ली। टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल जल्द ही अपना 3जी नेटवर्क बंद कर सकती है। 3जी बंद होने के बाद कंपनी केवल 2जी और 4जी सेवाएं ही प्रदान करेंगी। कंपनी 3जी से खाली हुए स्‍पेक्‍ट्रम का इस्‍तेमाल 4जी सर्विस के लिए करेगी। ऐसा करने से उसे डेटा ट्रांसफर में अच्छी मदद मिलेगी। वहीं कंपनी 3जी सेवाओं में कुछ महीनों से खर्च नहीं कर रही है। ज‍िससे 3जी सेवाओं का लाभ उठा रहे उपभोक्‍ताओं को काफी परेशानी भी हो रही है।

Airtel Announce To Shut Down 3g Services :

एयरटेल के तिमाही नतीजों के बाद बोलेते हुए गोपाल विट्टल ने कहा कि अगले 3 से 4 साल में 3G नेटवर्क बंद हो सकता है। भारत में बिकने वाले करीब 50 फीसदी मोबाइल फोन फीचर्स फोन हैं। गोपाल विट्टल ने बताया कि कंपनी अपने नेटवर्क की डाटा क्षमता को बढ़ाने के लिए 4जी तकनीक में निवेश कर रही है। कंपनी 3जी सर्विस के 2100 मेगाहर्ट्ज बैंड को 4जी सर्विस के लिए इस्तेमाल करेगी। कंपनी के पास कुछ पुरानी प्योर 3जी रेडियो यूनिट्स हैं, जिन्हें रिप्लेस करने की जरुरत है।

बता दें क‍ि बीते सप्‍ताह आरकॉम ने भी 2जी, 3जी और डीटीएच सेवाओं को बंद करने का ऐलान क‍िया है। वहीं कुछ कंपनियां मार्केट में अपनी पकड़ बनाने के लिए एक दूसरे के साथ विलय भी कर रही हैं। कहा जा रहा है क‍ि टेलीकॉम सेक्टर में यह उलटफेर रिलायंस जियो की वजह से हो रहा है।

नई दिल्ली। टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल जल्द ही अपना 3जी नेटवर्क बंद कर सकती है। 3जी बंद होने के बाद कंपनी केवल 2जी और 4जी सेवाएं ही प्रदान करेंगी। कंपनी 3जी से खाली हुए स्‍पेक्‍ट्रम का इस्‍तेमाल 4जी सर्विस के लिए करेगी। ऐसा करने से उसे डेटा ट्रांसफर में अच्छी मदद मिलेगी। वहीं कंपनी 3जी सेवाओं में कुछ महीनों से खर्च नहीं कर रही है। ज‍िससे 3जी सेवाओं का लाभ उठा रहे उपभोक्‍ताओं को काफी परेशानी भी हो रही है।एयरटेल के तिमाही नतीजों के बाद बोलेते हुए गोपाल विट्टल ने कहा कि अगले 3 से 4 साल में 3G नेटवर्क बंद हो सकता है। भारत में बिकने वाले करीब 50 फीसदी मोबाइल फोन फीचर्स फोन हैं। गोपाल विट्टल ने बताया कि कंपनी अपने नेटवर्क की डाटा क्षमता को बढ़ाने के लिए 4जी तकनीक में निवेश कर रही है। कंपनी 3जी सर्विस के 2100 मेगाहर्ट्ज बैंड को 4जी सर्विस के लिए इस्तेमाल करेगी। कंपनी के पास कुछ पुरानी प्योर 3जी रेडियो यूनिट्स हैं, जिन्हें रिप्लेस करने की जरुरत है।बता दें क‍ि बीते सप्‍ताह आरकॉम ने भी 2जी, 3जी और डीटीएच सेवाओं को बंद करने का ऐलान क‍िया है। वहीं कुछ कंपनियां मार्केट में अपनी पकड़ बनाने के लिए एक दूसरे के साथ विलय भी कर रही हैं। कहा जा रहा है क‍ि टेलीकॉम सेक्टर में यह उलटफेर रिलायंस जियो की वजह से हो रहा है।