ऐसा मंदिर जहां के पवित्र पानी से मुर्दों में आ जाती है जान

नई दिल्ली। आज हम आपको एक ऐसे रहस्य के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसे सुनकर आपको हैरानी जरूर होगी। आज तक आपने दुनिया के बहुत सारे मंदिरो के दर्शन किए होंगे और उनके बारे में जानने की कोशिश भी की होगी, लेकिन आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे है जहां जाने के बाद मुर्दों में भी जान आ जाती है और मुर्दे उठकर बैठ जाते हैं।

पवित्र जल से मुर्दों में आ जाती है जान—

{ यह भी पढ़ें:- महाकाल की भस्म आरती का रहस्य, वीडियो में देखें ये अद्भुत दृश्य }

उत्तरांचल राज्य की राजधानी देहरादून से मात्र 128 किमी दूर लाखामण्डल नामक स्थान है। यहां एक बहुत पुराना मंदिर बना हुआ है। जिसकी कहानी सुन आप सभी अपने दातों तले उंगली दबा लेंगे। यहां सदियों पुरानी परंपरा है कि मंदिर में रखे किसी शव पर मंदिर का पुजारी जैसे ही पवित्र जल डालता है, वैसे ही शव में जान आ जाती है और वो उठ कर बैठ जाता है। इतना ही नहीं जीवित होने के बाद व्यक्ति भगवान का नाम लेता है जिसके बाद उन्हे गंगा जल प्रदान किया जाता है।

गंगाजल पीते ही व्यक्ति की आत्मा शरीर त्यागकर चली जाती है। अब इसे चमत्कार कहेंगे या महज आखों का धोका इस बात से आज तक पर्दा नहीं उठ पाया है। सदियों से ये कहानी महज एक रहस्य बनी हुयी है जिसे वहां के लोग परंपरा के तौर पर निभाते चले आ रहे है। लोगों का मानना है कि महाभारतकालीन समय में इस मंदिर को अज्ञातवास के दौरान पांडवों ने बनवाया था। जिसके बाद इस मंदिर मे शिवलिंग की स्थापना खुद युधिष्ठिर ने की थी। और आज यह मंदिर पूरे भारत में महाम्ंडेश्वर के नाम से विख्यात है।

{ यह भी पढ़ें:- ...यहां हिंदू-मुस्लिम मिलकर करते हैं रामलीला का मंचन }