डोभाल ने की अमेरिकी NSA से बात, सौंपे PAK के F-16 इस्तेमाल के सबूत

ajit
डोभाल ने की अमेरिकी NSA से बात, सौंपे PAK के F-16 इस्तेमाल के सबूत

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले में हुए फिदायीन हमले के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच अभी भी तनाव बरकरार है। भारतीय विमानों पर अमेरिकी निर्मित लड़ाकू विमान एफ 16 से हमला करने को लेकर आज NSA अजीत डोभाल ने अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बॉल्टन से बात की।

Ajit Doval America Nsa John Bolton Pakistan F16 Fighter Plane :

सूत्रों के मुताबिक भारत ने अमेरिका को पाकिस्तान द्वारा जवाबी हमले में F-16 फाइटर प्लेन का इस्तेमाल करने के सबूत सौंपे हैं। भारत ने अमेरिका को इंडियन फाइटर प्लेन पर हमले में एफ 16 से दागी गई AIM-120 के टुकड़ों को दिखाया है।

इससे पहले गुरुवार को भी भारतीय वायु सेना ने बतौर सबूत हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल अमराम (एएमआरएएएम) के हिस्से दिखाए थे। इससे साबित होता है कि पाकिस्तान ने कश्मीर में भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने में एफ 16 लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल किया था। वहीं पाकिस्तान एफ-16 लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल करने की बात को सिरे से खारिज करता रहा है।

इससे पहले भी अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा था कि वाशिंगटन भारत के खिलाफ अमेरिका निर्मित एफ-16 लड़ाकू विमानों के संभावित दुरुपयोग पर पाकिस्तान से और अधिक जानकारी मांग रहा है। इन विमानों की आपूर्ति के लिए हुए समझौते का उल्लंघन करने को लेकर पाकिस्तान से यह जानकारी मांगी गई है।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी हमले में भारत के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के भीतर बालाकोट में जैश के आतंकी कैंपों को निशाना बनाया था। इसके दूसरे दिन यानी 27 फरवरी को पाकिस्तान ने एफ-16 विमान के जरिए सीमा पर भारतीय सेना कैंप को निशाना बनाने की कोशिश की थी।

हालांकि उनकी यह कोशिश भारतीय वायुसेना ने नाकाम कर दी। इस दौरान भारतीय सेना ने एक पाकिस्तान एफ-16 विमान को भी मार गिराया था।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले में हुए फिदायीन हमले के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच अभी भी तनाव बरकरार है। भारतीय विमानों पर अमेरिकी निर्मित लड़ाकू विमान एफ 16 से हमला करने को लेकर आज NSA अजीत डोभाल ने अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बॉल्टन से बात की।

सूत्रों के मुताबिक भारत ने अमेरिका को पाकिस्तान द्वारा जवाबी हमले में F-16 फाइटर प्लेन का इस्तेमाल करने के सबूत सौंपे हैं। भारत ने अमेरिका को इंडियन फाइटर प्लेन पर हमले में एफ 16 से दागी गई AIM-120 के टुकड़ों को दिखाया है।

इससे पहले गुरुवार को भी भारतीय वायु सेना ने बतौर सबूत हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल अमराम (एएमआरएएएम) के हिस्से दिखाए थे। इससे साबित होता है कि पाकिस्तान ने कश्मीर में भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने में एफ 16 लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल किया था। वहीं पाकिस्तान एफ-16 लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल करने की बात को सिरे से खारिज करता रहा है।

इससे पहले भी अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा था कि वाशिंगटन भारत के खिलाफ अमेरिका निर्मित एफ-16 लड़ाकू विमानों के संभावित दुरुपयोग पर पाकिस्तान से और अधिक जानकारी मांग रहा है। इन विमानों की आपूर्ति के लिए हुए समझौते का उल्लंघन करने को लेकर पाकिस्तान से यह जानकारी मांगी गई है।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी हमले में भारत के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के भीतर बालाकोट में जैश के आतंकी कैंपों को निशाना बनाया था। इसके दूसरे दिन यानी 27 फरवरी को पाकिस्तान ने एफ-16 विमान के जरिए सीमा पर भारतीय सेना कैंप को निशाना बनाने की कोशिश की थी।

हालांकि उनकी यह कोशिश भारतीय वायुसेना ने नाकाम कर दी। इस दौरान भारतीय सेना ने एक पाकिस्तान एफ-16 विमान को भी मार गिराया था।