अकबरूद्दीन ओवैसी का विवादित बयान, संसद में बनते हैं मुस्लिम विरोधी कानून

नई दिल्ली। अपने विवादित बयानों से सुर्खियों में रहने वाले ओवैसी ब्रदर्स एक बार फिर से चर्चा में हैं। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी के भाई और पार्टी विधायक अकबरूद्दीन ओवैसी ने देश की विधायिका और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बेहद आपत्तिजनक टिप्पड़ी की है।

दरअसल, अकबरूद्दीन ओवैसी का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें अकबरूद्दीन कहते हुए नजर आ रहे हैं कि मुल्क के सेकुलर लोग कहां हैं, अखलाक को मारा गया, नोमान को मारा गया, जुनैद को मारा गया, टोपी पहनना गुनाह है क्या? मुसलमान होना गुनाह है क्या? ओ विश्व हिंदू परिषद वालो, आरएसएस वालो, नरेंद्र मोदी सुन लो ये मुल्क किसी एक का नहीं है, ये जितना तेरा है, मुल्क मेरा भी है। अगर हिंदू तिलक लगाकर घूम सकता है तो मुसलमान भी टोपी पहन सकता है।

ओवैसी ने आगे कहा, ‘किसी के रहम, किसी के करम, किसी की मदद की जरूरत नहीं है। हमारा भाई खुद हमारे भाइयों के वोट से हिंदुस्तान के पचास संसद की सीटों को जीत सकता है।’

वहीं ओवैसी के इस बयान के बाद भारतीय जनता पार्टी ने निंदा करते हुए कहा, भारत एक सेकुलर देश है। ये हर धर्म के लोगों का देश है लेकिन अकबरुद्दीन मुसलमानों को भड़काने का काम कर रहे हैं।