1. हिन्दी समाचार
  2. आजम पर मेहरबान अखिलेश, अपर्णा यादव को उपचुनाव में भी किया गया नजरअंदाज

आजम पर मेहरबान अखिलेश, अपर्णा यादव को उपचुनाव में भी किया गया नजरअंदाज

Akhilesh Aparna Yadav Were Ignored In Azam As Well

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर सभी पार्टियोें ने प्रत्याशियों की लिस्ट जारी कर दी है। अगर बात सपा की करें तो सपा ने लखनऊ कैंट से अपर्णा यादव का टिकट काटकर सबको हैरान कर दिया है। आखिर ऐसा क्या ​हुआ जो अखिलेश जी आजम खान पर तो मेहरबान ​दिखे लेकिन अपर्णा यादव को नजरअंदाज कर दिया, शिवपाल सिंह के सपा से अलग होने के बाद से ही अक्सर ये अटकले लगाई जाती रही है कि इस परिवार में सबकुछ अच्छा नही चल रहा है तो क्या अर्पणा का टिकट कटने के पीछे भी यही माना जाये।

पढ़ें :- यूपी रोडवेज बस में महिला ने दिया बच्चे को जन्म, नाम रखा महोबा डिपो

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जहां एक तरफ उपचुनाव में विवादों से घिरे रामपुर सीट से लोकसभा सांसद आजम खान की पत्नी तंजीम फातिमा को रामपुर से टिकट दिया है वहीं लखनऊ कैंट सीट से पिछली बार की रनरअप रही अपर्णा यादव का टिकट काट दिया गया। इस बार सपा ने लखनऊ कैंट से मेजर आशीष चतुर्वेदी को टिकट दिया है जबकि 2017 में मुलायम की छोटी बहू अपर्णा ने भाजपा की रीता बहुगुणा से काफी अच्छी फाईट की थी और उनकी चुनाव के बाद भी काफी चर्चा थी। अब ऐसे में ये कयास लगाया जा रहा है कि कहीं इसके पीछे मुलायम परिवार का कोई आपसी मतभेद तो नही है।

2017 विधानसभा चुनाव के पहले अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव भी काफी नाराज थे जिसका असर विधानसभा चुनाव में साफ देखने को मिला और विधानसभा चुनाव के बाद ही शिवपाल सिंह ने अपनी दूसरी पार्टी बना ली। हालांकि अपर्णा यादव ने कभी भी अखिलेश यादव के बारे में कोई बयान नही दिया लेकिन आखिर ऐसा क्या है जो उन्हे लोकसभा में और अब उपचुनाव में नजरंदाज किया जा रहा है। आपको बता दें कि अपर्णा यादव को कैंट टिकट न दिये जाने को लेकर सोशल मीडिया पर भी उनके चाहने वाले अफसोस जता रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...