1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. अखिलेश बाबू तिथि ही नहीं, अब तो राम मंदिर की नींव भी पड़ गई, आप 5 हजार रुपया देने से भी चूक गए : अमित शाह

अखिलेश बाबू तिथि ही नहीं, अब तो राम मंदिर की नींव भी पड़ गई, आप 5 हजार रुपया देने से भी चूक गए : अमित शाह

Amit Shah in Lucknow: लखनऊ पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने सदस्यता अभियान की शुरूआत की है। इस दौरान उन्होंने जनसभा को संबोधित किया। अमित शाह ने इस दौरान विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि, आज मैं उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की ऐतिहासिक भूमि पर भाजपा (BJP) की सदस्यता अभियान की शुरुआत कराने आया हूं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Amit Shah in Lucknow: लखनऊ पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने सदस्यता अभियान की शुरूआत की है। इस दौरान उन्होंने जनसभा को संबोधित किया। अमित शाह ने इस दौरान विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि, आज मैं उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की ऐतिहासिक भूमि पर भाजपा (BJP) की सदस्यता अभियान की शुरुआत कराने आया हूं।

पढ़ें :- कानपुर की डीएम ने बुजुर्ग दंपति पर खोया आपा, Viral Video में कहा भला-बुरा

इसके साथ ही दीपावली पर यहां के हर घर पर ‘मेरा परिवार-भाजपा परिवार’ को स्वीकृति मिले, इस अभियान की भी शुरुआत हो रही है। उन्होंने कहा कि, यूपी (UP) में कई वर्षों तक सपा-बसपा का खेल चलता रहा, उसने उत्तर प्रदेश को बर्बाद कर दिया था। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था की बदहाल स्थिति देखकर खून खौलता था। आज उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोई पलायन नहीं होता, पलायन कराने वालों का खुद पलायन हो गया है।

पढ़ें :- आज़म-शिवपाल की जोड़ी सपा के लिए न बने सिरदर्द, अब डैमेज कंट्रोल का मोर्चा मुलायम सिंह ने संभाला

अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि, एक बहुत बड़ा परिवर्तन उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में और देश में मोदी जी और योगी सरकार (Yogi Sarkar) ने करने का कार्य किया है। आपने दोबारा दो तिहाई बहुमत दिया, मोदी जी ने राम जन्मभूमि का शिलान्यास कर दिया और देखते-देखते आज आसमान को छूने वाला भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर बन रहा है। अमित शाह ने कहा कि, अखिलेश जी को मैं याद दिलाता हूं कि आपकी पार्टी की सरकार में निर्दोष रामभक्तों को गोलियों से भून दिया गया था।

आज उसी जगह पर रामलला शान के साथ गगनचुंभी मंदिर में विराजमान होने वाले हैं। ये अखिलेश एंड कंपनी 2014, 2017, 2019 में हमें ताने देते थे। कहते थे- “मंदिर वहीं बनाएंगे, तिथि कभी नहीं बताएंगे।” अखिलेश बाबू, तिथि ही नहीं, अब तो मंदिर की नींव भी डाल दी है।

आप तो 5 हजार रुपया देने से भी चूक गए। अमित शाह ने कहा कि, मेरठ में यूनिवर्सिटी होने के बावजूद वहां की बच्चियां दिल्ली में किराये के घर में रहकर पढ़ाई करती थीं। तब यूपी में उनकी सलामती नहीं थी। आज कोई भी लड़की स्कूटी पर रात 12 बजे भी यूपी की सड़कों पर चल सकती है, कोई डर नहीं है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...