1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. अखिलेश ने माया को ​दिया बड़ा झटका, बीएसपी सांसद के पिता राकेश पांडेय साइकिल पर हुए सवार

अखिलेश ने माया को ​दिया बड़ा झटका, बीएसपी सांसद के पिता राकेश पांडेय साइकिल पर हुए सवार

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के नेतृत्व में आस्था जताते हुए वरिष्ठ बसपा (BSP) नेता व अम्बेडकर नगर से पूर्व सांसद राकेश पांडेय (Rakesh Pandey) अपने साथियों के साथ सपा (SP)में शामिल हो गए हैं। बीजेपी विधायक माधुरी वर्मा, पूर्व एमएलसी कांति सिंह सहित भारी संख्या कई पार्टी के पदाधिकारियों ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के नेतृत्व में आस्था जताते हुए वरिष्ठ बसपा (BSP) नेता व अम्बेडकर नगर से पूर्व सांसद राकेश पांडेय (Rakesh Pandey) अपने साथियों के साथ सपा (SP)में शामिल हो गए हैं। बीजेपी विधायक माधुरी वर्मा, पूर्व एमएलसी कांति सिंह सहित भारी संख्या कई पार्टी के पदाधिकारियों ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

पढ़ें :- UP Election 2022: केशव मौर्य का अखिलेश पर हमला, बोले-सपा की सूची नहीं अपराध, दंगा, भ्रष्टाचार की बंद फ़ैक्ट्री शुरू करने का संदेश है

इस अवसर पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि जिस दिन से नए साल पर 300 यूनिट बिजली फ्री देने का फैसला सपा ने लिया है। साथ ही किसानों की सिंचाई मुफ्त होगी, सबसे ज्यादा तकलीफ भारतीय जनता पार्टी को हो रही है। मिर्जापुर में फ्रांस के राष्ट्रपति ने जिस सोलर प्लांट का उद्घाटन किया वह योजना सपा सरकार की ही थी। चाहे ललितपुर, महोबा, झांसी या मैनपुरी रहा हो सपा सरकार में सोलर पावर प्लांट लगाए गए हैं।

पढ़ें :- UP Election 2022: कांग्रेस को झटका देकर स्वामी प्रसाद मौर्य का जवाब भाजपा ने ढूंढ़ा, पडरौना से देगी टिकट

अखिलेश यादव ने कहा कि मुझे खुशी है इस बात की रोजा थर्मल प्लांट तैयार हो गया जो नेताजी ने बनाया था। अनपरा डी का प्लांट भी समाजवादी पार्टी सरकार की वजह से लगा, एटा में सुपरक्रिटिकल प्लांट लगाया। यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश का चुनाव देखते हुए भाजपा ने मजबूरी में तीनों कृषि कानून वापस किए हैं। जिन कानूनों से किसान की खेती बर्बाद हो जाती, उनके हाथ से उनकी जमीन निकल जाती।

उन्होंने कहा​ कि मैं जानता हूं जिस दिन गाजीपुर से हमारा रथ चलकर लखनऊ पहुंचा था, उस दिन भारतीय जनता पार्टी के होश उड़ गए और अगले दिन ही उन्होंने किसानों के खिलाफ तीनों काले कानूनों को वापस लेने का काम किया।अखिलेश यादव ने कहा कि हमारे किसानों की आय भाजपा के लोग दुगनी नहीं कर पाए थे, जो वादा किया। लेकिन अब एक भी भाषण में भाजपा के लोग यह बात नहीं कह रहे हैं।

यादव ने कहा कि हमारे बाबा मुख्यमंत्री यह नहीं जानते होंगे कि कितनी किलोमीटर ट्रांसमिशन लाइन उत्तर प्रदेश में बिछी होगी।इस सरकार ने कोल जनरेशन पर कोई ध्यान नहीं दिया। उन्होंने बताया कि नेताजी के समय में एक पॉलिसी आई थी जिसके तहत बड़े पैमाने पर इन्वेस्टमेंट हुआ था, कोल जनरेशन के प्लांट लगे थे, इस सरकार की नाकामी की वजह से कॉल जनरेशन आगे नहीं बढ़ पाया।

यादव ने कहा कि योगी के मुंह से कभी ट्रांसमिशन लाइन सुना आपने। 5 साल में कभी उन्होंने ट्रांसमिशन लाइन अपने मुंह से बोला हो तो बता दो? एडीआर रिपोर्ट आई है जिसमें सबसे ज्यादा दागी विधायक भारतीय जनता पार्टी में है। भाजपा ने देश में पहली बार इतिहास बनाने का काम किया है, जिस मुख्यमंत्री पर तमाम धाराएं लगी हो उसको मुख्यमंत्री बना दिया।

पढ़ें :- UP Election 2022: सपा को लगा एक और बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए विधायक सुभाष राय
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...