नेताजी के आशीर्वाद और अपने काम पर लड़ेगें चुनाव अखिलेश

लखनऊ: यूपी में चुनाव की तारीखों का एलान होने के बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि नेताजी (मुलायम सिंह यादव) के आशीर्वाद और अपने सरकार के काम के बूते चुनाव लड़ेंगे और सत्ता में लौटेंगे। मुख्यमंत्री ने यह बात उस समय कही जब समाजवादी पार्टी के अन्दर चल रहे सियासी संघर्ष में सुलह के प्रयासों के बीच वह यूपी प्रवासी दिवस-2017 के कार्यक्रम से निकल रहे थे। मुख्यमंत्री श्री यादव ने कहा कि नेताजी के आशीर्वाद से ही वह प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। लोकतंत्र में नेताजी ने ही काम करने का मौका दिया। उन्हीं के आशीर्वाद से प्रदेश में सभी विकास कार्य हुए हैं और अब उन्हीं के आशीर्वाद से अब चुनाव में जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि नेताजी के बिना विकास कायरे को वह गति नहीं मिल सकती थी, जिसे अधिकारियों ने रिकार्ड समय में पूरा करके दिखाया है।




उन्होंने प्रदेश के अधिकारियो को भी पूरी तरह से पढ़ लिया है। कौन हथौड़े से और कौन नट-बोल्ट कहां टाइट करने पर कैसे काम करेगा पूरी तरह से समझ गये हैं। दोबारा सत्ता में आने पर इसका प्रयोग करूंगा और प्रदेश के विकास कायरे को और गति दी जायेगी। इसके पूर्व प्रवासी दिवस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपनी सरकार की उपलब्धियों का जमकर बखान किया और कहा कि अब वह समय आ गया है जब जनता को तय करना है कि लुभावने नारे देने वाली सरकार चाहिये अथवा काम के जरिये सूबे को विकास के पथ पर ले जाने वाली पार्टी को दोबारा सत्ता में वापस लाना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार मेरा नया साल का पहला दिन कैसे बीता वही जानते हैं। नये साल का मुबारकबाद लेने से उन्होंने इस बार गुरेज किया। उन्होंने कहा, मैं ही जानता हूं कि मेरा नया साल कैसे शुरु हुआ। मन में तमाम आशंकाएं चल रही थीं, जो लोग मुबारकबाद देते थे, मैं उनको मना कर देता था और कहता था कि बधाई बाद में दे लेना। मुख्यमंत्री ने प्रवासी दिवस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर भी कटाक्ष किया।




उन्होने कहा कि मोदीजी दो बार लखनऊ आये। लोगों को उम्मीद थी कि प्रदेश को कुछ देकर जायेंगे, मगर जनता को क्या मिला सबको पता है? लोग ढूंढ रहे होंगे कि अच्छे दिन कहां है। अब तो आकलन करना होगा कि लैपटॉप किसने बांटा और डिजिटल इंडिया का नारा किसने दिया। वह भी ऐसा लैपटाप बांटा गया कि कहीं से कोई भी शिकायत नहीं मिली। जब लैपटाप खोलिये तो उसमें सबसे पहले नेताजी और मेरा फोटो सामने आता है। श्री यादव ने कहा मैं आपसे ऐसे दिन मिल रहा हूं , जब हम जनता के बीच जाने वाले हैं। मुझे लगता है कि यह पहला चुनाव है, जब लोगों ने मन बना लिया है कि किसको लेकर आना है। उन्होने दावा किया कि 23 महीनों में इतना बड़ा एक्सप्रेस-वे बनाने वाली देश में उनकी इकलौती सरकार है। सूबे में सबसे बड़े मेट्रो रेल परियोजना पर काम चल रहा है। लखनऊ मेट्रो का काम पूरा होने वाला है। उन्होंने प्रवासी भारतीयों से कहा कि उनका भारत से गहरा रिश्ता है और उन्हे मिलकर ऐसी चीज तैयार करनी चाहिए जिससे देश के लोगों का भला हो सके।