1. हिन्दी समाचार
  2. अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला हमला, कहा-वैश्विक महामारी से निपटने के लिए नहीं बनी कोई निर्णायक नीति

अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला हमला, कहा-वैश्विक महामारी से निपटने के लिए नहीं बनी कोई निर्णायक नीति

Akhilesh Yadav Attacked Cm Yogi Said No Decisive Policy Made To Deal With Global Epidemic

By सोने लाल 
Updated Date

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राज्य में कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामलों पर चिंता जताते हुए योगी सरकार पर आरोप लगाया है कि वह इस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए काई निर्णायक नीति नहीं बना पाये हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है। जिससे जनता कफी हतास और परेशान है। खासतौर पर लखनऊ की हालत तो दिन ब दिन ​चिंताजनक होती जा रही है।

पढ़ें :- दीनदयाल जी ने देश को एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा दी : रवि किशन

भाजपा सरकार पर लगाया आरोप

अखिलेश यादव भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए यह कहा कि कोरोना काल में संकट की यह स्थिति इस लिए बनी हुई है ​कि भाजपा सरकार ने स्वास्थ्य सेवाओं पर ध्यान नहीं दिया। समाजवादी पार्टी सरकार में जितने मेडिकल कालेज बने, एमबीबीएस की सीटों में बढ़ोत्तरी हुई भाजपा ने उसके आगे कुछ नहीं किया। वहीं इस सरकार में 108 और 102 जैसी जनकल्याण सेवाओं को बर्बाद कर दिया गया।

अस्पतालों निःशुल्क चिकित्सा व्यवस्था दैनीय

अस्पतालों में निःशुल्क चिकित्सा की व्यवस्था की गई थी। आज सरकारी अस्पतालों की व्यवस्था भी चरमरा गई है। उन्होंने कहा कि लखनऊ में कोविड-19 के मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा है, लेकिन अस्पतालों में बिस्तर सीमित संख्या में ही हैं। एसजीपीजीआई, केजीएमयू और राम मनोहर लोहिया अस्पताल के पास काफी बिस्तर हैं, लेकिन कोरोना वायरस मरीजों के लिए चंद बिस्तर ही आरक्षित किये गये हैं. एसजीपीजीआई, केजीएमयू और राम मनोहर लोहिया अस्पताल की बिस्तर क्षमता का पूरा उपयोग नहीं हो रहा है।

अधिकारी नहीं करे सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देशों का पालन

अखिलेश यादव ने आरोप लगाते हुए यहा भी कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ कई बार अस्पतालों में बिस्तर बढ़ाने का निर्देश दे चुके हैं, लेकिन लेकिन अधिकारी अनसुना कर रहे हैं। अगर अधिकारी सरकार के निर्देश का पालन करते और पीजीआई, केजीएमयू तथा लोहिया चिकित्सा संस्थानों में क्षमता के अनुरूप कोविड-19 बिस्तर आरक्षित करते तो तस्वीर कुछ और होती। अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि कोविड-19 की वैश्विक महामारी में भी लखनऊ में स्थित सभी हॉस्पिटल अपने दायित्व का निर्वाहन नहीं कर रहे हैं। चिकित्सालयों द्वारा सरकार के निर्देशों की अवहेलना की जा रही है, जिस वजह से बड़ी संख्या में संक्रमित रोगियों को चिकित्सा सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

पढ़ें :- ड्रग्स के खिलाफ मुहीम को आगे बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री जी का आभारी हूँ: सांसद रवि किशन

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...