जोश में होश खोये सपाई: टोल टैक्स दिये बिना निकाल डाला 175 गाड़ियों का काफिफा

लखनऊ। विधानसभा चुनाव के नतीजों को भुला समाजवादी पार्टी ने पूरे जोशों-खरोश के साथ मौजूदा सरकार के खिलाफ बिगुल फूंक दिया है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने इस मुहिम को नाम दिया है ‘देश बनाओ, देश बचाओ’। इसकी शुरुआत अखिलेश यादव ने अपने हजारों कार्यकर्तों के साथ फैजाबाद से की। अखिलेश की यह कोशिश विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद कार्यकर्तायों में नयी जान फूंकने की है। लेकिन एक कहावत है ‘ढेर जोगी मठ के उजाड़।’ यह लाइन अखिलेश की ‘देश बनाओ, देश बचाओ’ रैली पर बिलकुल सटीक बैठ रही है क्योकि कल अखिलेश के रैली से लौटते वक़्त कुछ ऐसा ही देखने को मिला जब अखिलेश का काफिला एक टोल प्लाजे को क्रॉस कर रहा था।

दरअसल, अखिलेश के काफिले में उत्साह इतना था कि उन्होने टोल प्लाजे पर टैक्स देना भी मुनासिब नहीं समझा और बिना कोई शुल्क दिए 175 गड़िया पार करा दी। टोल टैक्स न देने वाली गाड़िया एक दो नहीं, बल्कि 175 गाड़िया थी। ये सारी गाड़िया अखिलेश के काफिले में शामिल थी।

गौरतलब है कि नौ अगस्त यानी अगस्त क्रांति के दिन अखिलेश यादव विधानसभा की हार के बाद निराश और हताश कार्यकर्ताओं में नई जान डालने के लिए केंद्र की मोदी और सूबे की योगी के खिलाफ सूबे के सभी जिलों में ‘देश बनाओ, देश बचाओ’ अभियान की शुरुआत की। पार्टी मुखिया अखिलेश खुद जिला फैजाबाद में कार्यकर्ताओं के साथ शामिल हुए। इस दौरान अखिलेश ने फैजाबाद की सड़कों पर अपने रथ पर सवार होकर मोदी और योगी के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। इसके बाद अखिलेश वापस लखनऊ के लिए रवाना हुए तो उनके काफिले के साथ 175 गाड़ियां शामिल थी। फैजाबाद और लखनऊ के रास्ते में बाराबंकी का टौल प्लाजा पड़ता है। ये सारी गाड़िया जब इस टोल प्लाजा से गुजरी तो किसी ने भी टोल टैक्स देना मुनासिब नहीं समझा। ये बात टोल प्लाजा के मैनेजर ने खुद ही कहा है।