अखिलेश का 8वां मंत्रिमंडल विस्तार, गायत्री फिर बनेंगे मंत्री

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) के बीच पिछले कुछ दिनों से चल रही सियासी उठापटक के बीच अखिलेश मंत्रिमंडल का आठवां विस्तार सोमवार को हो गया। अखिलेश मंत्रिमंडल में दागी पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति सहित चार मंत्रियों को शामिल किया गया जबकि छह राज्य मंत्रियों को ‘पदोन्नत’ किया गया है।

राजभवन में आयोजित समारोह में राज्यपाल राम नाईक ने गायत्री, मनोज पाण्डेय, शिवाकांत ओझा और जियादुद्दीन रिजवी को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी। स्वतंत्र प्रभार के साथ राज्य मंत्री रहे रियाज अहमद, यासर शाह और रविदास मेहरोत्रा को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। राज्य मंत्री अभिषेक मिश्रा, नरेन्द्र वर्मा और शंखलाल माझी को भी कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। अखिलेश मंत्रिपरिषद में अब 32 कैबिनेट मंत्री, नौ स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री तथा 19 राज्य मंत्री हैं।

पार्टी में चल रहे विवाद की छाया शपथ ग्रहण समारोह में भी नज़र आई। इस अवसर पर समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव, प्रदेश अध्यक्ष और कैबिनेट के वरिष्ठ मंत्री शिवपाल सिंह यादव मौजूद थे. लेकिन पार्टी महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव और अमर सिंह समारोह में मौज़ूद नहीं थे। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 17 सितंबर को राज्यपाल को पत्र भेजकर मंत्रियों को शपथ दिलाने का अनुरोध किया था। राज्यपाल के शपथग्रहण के लिए 26 सितंबर की तिथि तय करने के बाद से मंत्री पद हासिल करने के लिए लॉबिंग तेज हो गई है।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 12 सितंबर को अप्रत्याशित रूप से सख्त कदम उठाते हुए गायत्री प्रसाद प्रजापति व पंचायतीराज मंत्री राजकिशोर सिंह को पद से बर्खास्त कर दिया था, जिसके बाद समाजवादी परिवार में संग्राम छिड़ गया था।