प्रधानमंत्री जहां चाहें खुली बहस के लिए तैयार हूं: अखिलेश यादव

लखनऊ। यूपी की चुनावी सियासत में शुरू हुए आरोपों और प्रत्यारोपों के दौर के बीच रविवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लखनऊ स्थित पार्टी कार्यालय में प्रेस कांफ्रेन्स कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गोंडा जिले में रैली के दौरान दिए भाषण में अपने नेतृत्व वाली यूपी सरकार पर लगाए गए भेदभाव के आरोपों का खंडन करते हुए सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि वे प्रधानमंत्री से उनके बताए जिले और गांव में बहस करने को तैयार हैं। प्रधानमंत्री विकास के मुद्दे के बजाय अन्य मुद्दों को जन्म देकर प्रदेश की जनता का ध्यान भटकाना चाहते हैं।



अखिलेश यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री को चाहिए कि वह जिस जिले में जाते हैं उस जिले में केन्द्र सरकार द्वारा करवाए गए विकासकार्यों की चर्चा करें। अपना उदाहरण देते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि वह जिस जिले में जनसभा करते हैं वहां समाजवादी सरकार द्वारा करवाए गए कामों को गिनवाते हैं। समाजवादी सरकार ने जो काम किया है जो विकास किया है उसी के दम पर जनता से वोट मांगती है।

उन्होंने कहा कि जब बीजेपी से केन्द्र सरकार के कामों का हिसाब मांगा जाता है तो बीजेपी के नेता कहते हैं कि वे अपना हिसाब 2019 में देंगे। उन्हें सोचना चाहिए कि अगर तीन सालों का हिसाब भी वे देंगे तो जनता आसानी से समझ सकेगी। राममनोहर लोहिया की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए सीएम ने कहा कि लोहिया जी कहा करते थे कि हम पांच साल इंतजार नहीं किया करते।

प्रधानमंत्री द्वारा प्रदेश सरकार की योजनाओं पर भेदभाव के आरोपों पर जवाब देते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र को 24 घंटे बिजली देने का काम उनकी सरकार में हुआ है। लैपटॉप वितरण में भेदभाव के आरोपों का खंडन करते हुए सीएम अखिलेश ने गोंडा जिले के लैपटॉप लाभार्थियों की सूची पढ़ते हुए कहा कि इन नामों के आधार पर तय करना आसान होगा कि कितना भेदभाव हुआ है।

ऐसे ही कन्याविद्या धन लाभार्थियों के नामों का जिक्र करते हुए सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि कोई नहीं कह सकता कि उनकी सरकार ने प्रदेश की किसी योजना को लागू करने में कोई भेदभाव किया है। उनकी सरकार का प्रयास रहा है कि प्रदेश की हर गरीब महिला को समाजवादी पेेंशन योजना का लाभ मिल सके। आज 50 लाख लोगों को 500 रुपए की पेंशन मिल रही है आने वाले समय में सरकार बनी तो लाभार्थियों की संख्या बढ़ाने के साथ—साथ पेंशन की राशि भी बढ़ाकर 1000 रुपए प्रति माह कर दी जाएगी।



अपनी सरकार की उपलब्धियों का बखान करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री बनने से पहले नरेन्द्र मोदी कहा करते थे कि सबका साथ सबका साथ। यूपी सरकार ने भी सभी का विकास किया है और सभी का साथ दिया है। उनकी सरकार ने जो 18 लाख लैपटॉप दिए हैं उनसे भी लोग डिजिटल बैंकिंग कर सकते हैं। आने वाले समय में स्मार्टफोन भी देंगे जिससे लोग एप्प बैंकिंग से ज्यादा बड़ी संख्या में जुड़ेंगे। वे खुद ही अपने मन की बात में कहते हैं कि युवा डिजिटल लेने देन कर रहा है।


मोदी जी को धोखे में रखा गया है—

अखिलेश यादव ने कहा कि मोदी जी अपने भाषणों में जिस तरह के आरोप लगाते हैं उससे लगता है कि उन्हें धोखे में रखा गया है। उन्हें शायद किसी ने बताया नहीं कि यूपी में अमेरिका की तर्ज पर डॉयल 100 सेवा शुरू हो चुकी है। एक कॉल पर पुलिस पहुंचती है, लेकिन मोदी जी कहते हैं कि थाने समाजवादियों का कार्यालय बन गया है।


गोरखपुर के बाबा बिजली का तार पकड़ें पता चल जाएगा आती है या नहीं

बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और गोरखपुर के सांसद महंत योगी आदित्यनाथ पर हमलावर होते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि गोरखपुर के बाबा कहते हैं कि उनके शहर में बिजली नहीं आती। उन्हें चुनौती है कि वह गोरखपुर का कोई भी बिजली का तार पकड़ लें उन्हें मालूम हो जाएगा कि वहां बिजली आती है या नहीं।


बुआ जी को डर लगता है तो डॉयल करें 1090

बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा अपनी सांसद पत्नी डिंपल यादव के साथ हुए एक वाकये पर समाजवादी कार्यकर्ता पर की गई टिप्पणी पर पलटवार करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि हमारी बुआ जी को शायद मालूम नहीं कि भाभी ने अगर अपने छोटे भाइयों से ये कह दिया कि भइया को बताएंगे इसमें कुछ बुरा नहीं है। जहां तक सुरक्षा का मामला है तो यूपी में महिला सुरक्षा के लिए 1090 की सेवा है। अगर बुआ जी को भी डर लगता है तो वह 1090 डायल कर सुरक्षा ले सकतीं हैं।