गरीब बेटियों की शादी के लिए अब मिलेंगे 20 हजार

लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तीन साल पहले बंद हो चुकी गरीब परिवारों की पुत्रियों की शादी के लिए अनुदान दिए जाने की योजना सोमवार को फिर शुरू कर दी। नये सिरे से शुरू हुई योजना में अब पात्र परिवारों को 20 हजार की धनराशि शादी अनुदान के रूप में मिलेगी। पहले इस योजना में 10 हजार पात्र परिवारों को दिए जाते थे। योजना की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री ने यहां अपने सरकारी आवास में आयोजित कार्यक्रम में लखनऊ जिले के 20 पात्र परिवारों की पुत्रियों, उनके पिता और दामाद को सम्मानित किया। अनुदान राशि पात्रों के बैंक खाते में सीधे समाज कल्याण विभाग द्वारा भेजी गयी है।



मुख्यमंत्री ने पुत्रियों और उनके पिता को एक-एक शाल और दामादों को कम्बल, पिलो, बेड शीट आदि सौंपी। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार अब गरीब पुत्रियों की शादी के लिए 10 हजार के बजाय Rs 20 हजार अनुदान देगी। इसकी शुरुआत हो गयी है। सरकार राज्य में इस साल दो लाख परिवारों को अनुदान राशि का वितरण करेगी। इसके लिए Rs 400 करोड़ की व्यवस्था की गयी है। इसके लिए 6 दिसम्बर से 10 दिसम्बर, 2016 तक सभी जिलों में ऑनलाइन आवेदन करने का अभियान चलेगा।




मुख्यमंत्री ने योजना को लेकर विभाग के मंत्री शंखलाल मांझी तथा विभागीय अधिकारियों की सराहना करते हुए कहा कि योजना में मिलने वाला पैसा लाभार्थी के बैंक खाते में पहुंचेगा। इससे योजना पारदर्शी रहेगी और लाभार्थी को जल्द से जल्द इसका लाभ भी मिल जायेगा। उन्होेंने कहा कि योजना कौन चला रहा है, इसे भी पात्रों को जानना जरूरी है, नहीं तो विरोधी कुछ भी कह सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादियों ने हर वर्ग के हित में काम किया है। गांवों में गरीबों को मकान दिए हैं। श्री यादव ने इस मौके पर अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए समाजवादी पेंशन योजना का जिक्र किया।