नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन में मारे गए युवक के परिजनों से अखिलेश यादव ने की मुलाकात

akhilesh yadav
नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन में मारे गए युवक के परिजनों से अखिलेश यादव ने की मुलाकात

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव रविवार लखनऊ के चौक क्षेत्र में पहुंचे, जहां वह नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन के दौरान मारे गए मोहम्मद वकील के परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान अखिलेश यादव ने पीड़ित परिजनों से आर्थिक सहायता दी और उन्हें न्याय दिलाने का भरोसा दिया। बता दें कि, नागरिकता कानून के विरोध में 19 दिसंबर को लखनऊ में विरोध प्रदर्शन हुआ था।

Akhilesh Yadav Meets Family Members Of Youth Killed In Protest Against Citizenship Amendment Act :

विरोध प्रदर्शन ने हिंसा का रूप ले लिया था। इस दौरान उपद्रवियों ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया था। हिंसा प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से मो. वकील की जान गयी थी। अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद मृतक मो. वकील के पिता सरफुद्दीन अहमद ने कहा कि उन्होंने हमसे शासन की तरफ से दिए गए मदद के बारे में जानकारी ली। इसके साथ ही एक लाख रुपये की मदद दी।

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून का देश भर में विरोध हो रहा है। देश के अलग-अलग राज्यों में हिंसा हुई। इसके पहले कांग्रेस महासिचव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अलग-अलग जिलों में हिंसा पीड़ितों व मारे गए लोगों से परिजनों से मुलाकात की थी। इसके बाद यूपी में सपा और बसपा भी सक्रिय हुई और हिंसा में मारे गए पीड़ित परिजनों से मुलाकात करना शुरू किया।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव रविवार लखनऊ के चौक क्षेत्र में पहुंचे, जहां वह नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन के दौरान मारे गए मोहम्मद वकील के परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान अखिलेश यादव ने पीड़ित परिजनों से आर्थिक सहायता दी और उन्हें न्याय दिलाने का भरोसा दिया। बता दें कि, नागरिकता कानून के विरोध में 19 दिसंबर को लखनऊ में विरोध प्रदर्शन हुआ था। विरोध प्रदर्शन ने हिंसा का रूप ले लिया था। इस दौरान उपद्रवियों ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया था। हिंसा प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से मो. वकील की जान गयी थी। अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद मृतक मो. वकील के पिता सरफुद्दीन अहमद ने कहा कि उन्होंने हमसे शासन की तरफ से दिए गए मदद के बारे में जानकारी ली। इसके साथ ही एक लाख रुपये की मदद दी। गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून का देश भर में विरोध हो रहा है। देश के अलग-अलग राज्यों में हिंसा हुई। इसके पहले कांग्रेस महासिचव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अलग-अलग जिलों में हिंसा पीड़ितों व मारे गए लोगों से परिजनों से मुलाकात की थी। इसके बाद यूपी में सपा और बसपा भी सक्रिय हुई और हिंसा में मारे गए पीड़ित परिजनों से मुलाकात करना शुरू किया।