1. हिन्दी समाचार
  2. अखिलेश यादव बोले, उत्तर प्रदेश अब हत्या प्रदेश बन गया है

अखिलेश यादव बोले, उत्तर प्रदेश अब हत्या प्रदेश बन गया है

Akhilesh Yadav Says Uttar Pradesh Becomes Hatya Pradesh

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

लखनऊ। सपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को भाजपा सरकार पर तीखा हमला किया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है। कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त है। अर्थव्यवस्था पर भी मंदी के काले बादल मंडला रहे हैं।

पढ़ें :- हाथरस केस: ग्रेटर नोएडा में राहुल-प्रियंका का रोका गया काफिला, पैदल जा रहे हैं हाथरस

वाहन उद्योग में साढ़े तीन लाख कर्मचारियों की छंटनी हो चुकी है। पिछले छह साल में 3.70 करोड़ लोग किसानी से अलग हो गए हैं। अखिलेश यादव ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पहले उत्तर प्रदेश उत्तम प्रदेश बनने की राह पर था अब भाजपा राज ने इसे हत्या प्रदेश बना दिया है।

राज्य में बेटियों के साथ बलात्कार और हत्या की घटनाएं हो रही हैं। वाहन उद्योग में बड़ी गिरावट है। इस क्षेत्र में साढ़ें तीन लाख से ज्यादा कर्मचारियों की छंटनी हो गई है। भाजपा सरकार कौन सी नीति पर काम कर रही है कि नौकरियां जा रही है, बेकारी बेतहाशा बढ़ रही है और नौजवान परेशान हैं। अस्पतालों में न दवा है, न इलाज की व्यवस्था है। भाजपा सरकार ने पूरी चिकित्सा व्यवस्था को ही बीमार कर दिया है। सरकार संवेदनहीन है।

उन्होंने कहा कि श्रम ब्यूरो के सर्वे के मुताबिक पिछले 6 वर्षों में 3.7 करोड़ लोग किसानी के काम से अलग हो गए है। बीते 5 सालों में करीब 60 हजार किसानों ने आत्महत्या की है। एक करोड़ से ज्यादा नौकरियां चली गई। भाजपा ने जनता को बहुत दुख पहुंचाया है। किसानों और नौजवानों के भविष्य को घोर अंधकार के भंवर में फंसा दिया है।

अखिलेश यादव ने कहा कि जाति आधारित जनगणना होने पर ही सबको आनुपातिक आधार पर भागीदारी मिल सकती है। सामाजिक न्याय की लड़ाई समाजवादी लंबे समय से लड़ रहे है। भाजपा केवल भटकाने और बांटने का काम करती है। अपने स्वार्थ साधने के लिए किसी सीमा तक जा सकती है।

पढ़ें :- कोरोना से ठीक हुए मरीज 10 दिन जरूर रखें इन 6 बातों का ध्यान, वरना बढ़ सकती है मुसीबत

उसे विकास में दिलचस्पी नहीं है। सपा अखिलेश यादव ने सहारनपुर में पत्रकार आशीष कुमार और उनके भाई आशुतोष की हत्या पर गहरा दुख जताते हुए दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार में मृतक के परिजनों को 20-20 लाख रुपए की तत्काल आर्थिक सहायता दी जाती थी। भाजपा सरकार को कम से कम इतनी मदद तो करनी ही चाहिए। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति और शोक संतप्त परिवारवालों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...