यूपी: जिलाध्यक्षों की बैठक में नहीं पहुंचे अखिलेश

लखनऊ| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के बीच खींचतान शुक्रवार को भी दिखी। यहां आयोजित जिलाध्यक्षों की बैठक से मुख्यमंत्री ने किनारा कर लिया। शिवपाल ने बैठक में शामिल होने के लिए अखिलेश को आमंत्रण दिया था, लेकिन वह नहीं पहुंचे। इधर, सपा की दो दिनी बैठक शुक्रवार से ही लखनऊ में पार्टी मुख्यालय पर शुरू हो गई। बैठक की अध्यक्षता शिवपाल सिंह यादव ने की।




पार्टी सूत्रों के अनुसार, शिवपाल इस बैठक के लिए गुरुवार की शाम अखिलेश यादव को बुलाने स्वयं भी पहुंचे थे और दोनों के बीच करीब दो घंटे तक बातचीत भी हुई थी। पार्टी मुख्यालय पर जिला अध्यक्षों और महानगर अध्यक्षों की मंथन बैठक जारी है। इस बैठक में शिवपाल यादव, अशोक वाजपेयी समेत अन्य नेताओं ने भी शिरकत की। सपा के सूत्रों ने बताया कि जिलाध्यक्षों की बैठक में तो अखिलेश यादव नहीं पहुंचे, लेकिन शनिवार को राज्य कार्यकारिणी और पार्टी के विधान परिषद सदस्यों की बैठक होनी है। माना जा रहा है कि इस बैठक में अखिलेश यादव शामिल होंगे। अखिलेश प्रदेश पार्टी संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष हैं और एमएलसी भी।

सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने 24 अक्टूबर को पार्टी संसदीय बोर्ड की बैठक बुलाई है, जिसमें मौजूदा विधायक, सांसद और पूर्व सांसद शिरकत करेंगे। इस बैठक में भी अखिलेश के शामिल रहने की उम्मीद है। गौरतलब है कि कुनबे में चल रहे कलह को सपा अध्यक्ष मुलायम ने दबा दिया था, लेकिन प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल की ओर से 21 प्रत्याशियों को टिकट दिए जाने की घोषणा के बाद यह फिर खुलकर सामने आ गई। गायत्री प्रसाद प्रजापति को पहले अखिलेश ने अवैध खनन के आरोपों पर बर्खास्त कर दिया था। अखिलेश ने चाचा शिवपाल से भी अहम मंत्रालय वापस लिए थे। बाद में शिवपाल के बगावती तेवर और सपा अध्यक्ष मुलायम के हस्तक्षेप के बाद अखिलेश को अपने फैसले वापस लेने पड़े, प्रजापति को फिर कैबिनेट में शामिल करना पड़ा है।