सियासी उठापटक के बीच 26 सितंबर को होगा अखिलेश का 8वां मंत्रिमंडल विस्तार, गायत्री फिर बनेंगे मंत्री

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) के बीच पिछले कुछ दिनों से चल रही सियासी उठापटक के बीच अखिलेश मंत्रिमंडल का आठवां विस्तार 26 सितंबर को होगा। मंत्रिमंडल से निकाले गए पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की वापसी तय है। जियाउद्दीन रिजवी भी नए मंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। राजभवन में सोमवार को जिन मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी, उनमें गायत्री प्रसाद प्रजापति के साथ बलिया के जियाउद्दीन रिजवी का नाम लगभग तय है। साथ ही अखिलेश यादव मंत्रिमंडल से हटाए गए मंत्रियों में से दो को फिर से मंत्री बनाए जाने की चर्चा है।



मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 17 सितंबर को राज्यपाल को पत्र भेजकर मंत्रियों को शपथ दिलाने का अनुरोध किया था। राज्यपाल के शपथग्रहण के लिए 26 सितंबर की तिथि तय करने के बाद से मंत्री पद हासिल करने के लिए लॉबिंग तेज हो गई है। सपा सूत्रों का कहना है कि 12 सितंबर को मंत्री पद से बर्खास्त गायत्री प्रसाद प्रजापति के साथ ही 27 जून को ही मंत्री नामित किए गए जियाउद्दीन भी मंत्री पद की शपथ लेंगे।

मंत्रिमंडल में रिक्त एक स्थान के लिए शिवकांत ओझा, राज किशोर सिंह और मनोज पांडेय में जोर आजमाइश शुरू हो गई है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 12 सितंबर को अप्रत्याशित रूप से सख्त कदम उठाते हुए भूतत्व एवं खनि कर्ममंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति व पंचायतीराज मंत्री राजकिशोर सिंह को पद से बर्खास्त कर दिया था, जिसके बाद समाजवादी परिवार में संग्राम छिड़ गया था।