अक्षय यादव ने चाचा से मांगा आशीर्वाद, कहा, एक भतीजे को CM बनाया, तो दूसरा MP का चुनाव लड़ रहा है

shivpal and akshay
अक्षय यादव ने चाचा से मांगा आशीर्वाद, कहा, एक भतीजे को CM बनाया, तो दूसरा MP का चुनाव लड़ रहा है

लखनऊ। ​फिरोजाबाद सीट पर चाचा—भतीजे आमने सामने चुनावी मैदान में हैंं। इसको लेकर वहां पर कयासों का दौर जारी हो गया है। फिरोजाबाद शिवपाल यादव का गढ़ माना जाता है। हालांकि भाजपा ने अभी तक अपना प्रत्याशी नहीं उतारा है।

Akshay Yadav Seeks Blessings From Uncle :

फिरोजाबाद सीट से सपा—बसपा गठबंधन के प्रत्याशी अक्षय यादव चुनावी मैदान में हैं। वहीं यहां से प्रसपा के संस्थापक शिवपाल यादव भी चुनावी मैदान में हैं। लिहाजा यहां का चुनावी मुकाबला बेहद ही दिलचस्प हो गया है। शुक्रवार फिरोजाबाद संसदीय सीट के लिए अक्षय यादव ने नामंकन दाखिल किया।

इस दौरान पत्रकारों से वार्ता करते हुए अक्षय यादव ने कहा कि बड़ों का काम है आशीर्वाद देना है और चाचा हमें आशीर्वाद दीं। एक भतीजे को मुख्यमंत्री बनाया था अब दूसरा सांसद का चुनाव लड़ रहा है। शिवपाल चाचा हमें भी आशीर्वाद दें। हालांकि अभी तक भाजपा ने यहां से अभी तक कोई प्रत्याशी नहीं उतारा है, जिसको लेकर अक्षय यादव ने कहा कि भाजपा डरी हुई है, जिसके कारण अभी तक अपना प्रत्याशी नहीं उतार पाई।

वहीं इसक कुछ देर बाद शिवपाल यादव ने पत्रकार वार्ता की। उन्होंने इस दौरान रामगोपाल यादव पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि रामगोपाल यादव भाजपा से मिले हुए हैं। शिवपाल ने कहा कि रामगोपाल यादव ने बेटे और बहू को जेल जाने से बचाने के लिए भाजपा की शरण ली है।

सीबीआइ के दवाब और भाजपा के इशारे पर परिवार को बर्बाद करने की सुपारी राम गोपाल ने ली हुई है। इसके साथ ही उन्होंने कई मुद्दे पर रामगोपाल को घेरने की कोशिश की।

लखनऊ। ​फिरोजाबाद सीट पर चाचा—भतीजे आमने सामने चुनावी मैदान में हैंं। इसको लेकर वहां पर कयासों का दौर जारी हो गया है। फिरोजाबाद शिवपाल यादव का गढ़ माना जाता है। हालांकि भाजपा ने अभी तक अपना प्रत्याशी नहीं उतारा है।

फिरोजाबाद सीट से सपा—बसपा गठबंधन के प्रत्याशी अक्षय यादव चुनावी मैदान में हैं। वहीं यहां से प्रसपा के संस्थापक शिवपाल यादव भी चुनावी मैदान में हैं। लिहाजा यहां का चुनावी मुकाबला बेहद ही दिलचस्प हो गया है। शुक्रवार फिरोजाबाद संसदीय सीट के लिए अक्षय यादव ने नामंकन दाखिल किया।

इस दौरान पत्रकारों से वार्ता करते हुए अक्षय यादव ने कहा कि बड़ों का काम है आशीर्वाद देना है और चाचा हमें आशीर्वाद दीं। एक भतीजे को मुख्यमंत्री बनाया था अब दूसरा सांसद का चुनाव लड़ रहा है। शिवपाल चाचा हमें भी आशीर्वाद दें। हालांकि अभी तक भाजपा ने यहां से अभी तक कोई प्रत्याशी नहीं उतारा है, जिसको लेकर अक्षय यादव ने कहा कि भाजपा डरी हुई है, जिसके कारण अभी तक अपना प्रत्याशी नहीं उतार पाई।

वहीं इसक कुछ देर बाद शिवपाल यादव ने पत्रकार वार्ता की। उन्होंने इस दौरान रामगोपाल यादव पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि रामगोपाल यादव भाजपा से मिले हुए हैं। शिवपाल ने कहा कि रामगोपाल यादव ने बेटे और बहू को जेल जाने से बचाने के लिए भाजपा की शरण ली है।

सीबीआइ के दवाब और भाजपा के इशारे पर परिवार को बर्बाद करने की सुपारी राम गोपाल ने ली हुई है। इसके साथ ही उन्होंने कई मुद्दे पर रामगोपाल को घेरने की कोशिश की।