जानिए कब है अक्षय तृतीया, मां लक्ष्मी को खुश करने के लिए करें ये उपाय

अक्षय तृतीया 2018: आज है अक्षय तृतीया जानिए शुभ मुहूर्त और पूजन विधि
अक्षय तृतीया 2018: आज है अक्षय तृतीया जानिए शुभ मुहूर्त और पूजन विधि
नई दिल्ली। साल में वैशाख मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को पूरे भारत में अक्षय तृतीया का पर्व मनाता है। इस साल तृतीया 18 अप्रैल यानी बुधवार को पड़ रही है, इस दिन को सभी शुभ कार्यों को करने के साथ-साथ शुभ मुहूर्त के तौर पर भी जाना जाता है। यह दिन न केवल वस्तुतएं खरीदने के लिए बल्कि दान करने के लिए भी काफी मंगलकारी माना जाता है। आज हम आपको ऐसे उपाय बताएँगे जिन्हे अक्षय तृतीया…

नई दिल्ली। साल में वैशाख मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को पूरे भारत में अक्षय तृतीया का पर्व मनाता है। इस साल तृतीया 18 अप्रैल यानी बुधवार को पड़ रही है, इस दिन को सभी शुभ कार्यों को करने के साथ-साथ शुभ मुहूर्त के तौर पर भी जाना जाता है। यह दिन न केवल वस्तुतएं खरीदने के लिए बल्कि दान करने के लिए भी काफी मंगलकारी माना जाता है। आज हम आपको ऐसे उपाय बताएँगे जिन्हे अक्षय तृतीया के दिन करने पर मां लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहेगी।

मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के खास मंत्र

{ यह भी पढ़ें:- अक्षय तृतीया 2018: आज है अक्षय तृतीया जानिए शुभ मुहूर्त और पूजन विधि }

ॐ आध्य लक्ष्म्यै नम:
ॐ विद्या लक्ष्म्यै नम:
ॐ सौभाग्य लक्ष्म्यै नम:
ॐ अमृत लक्ष्म्यै नम:
ॐ पहिनी पक्षनेत्री पक्षमना लक्ष्मी दाहिनी वाच्छा भूत-प्रेत सर्वशत्रु हारिणी दर्जन मोहिनी रिद्धि सिद्धि कुरु-कुरु-स्वाहा।

इस दिन श्री विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ करना लाभदायी रहता है तथा मां लक्ष्मी के इन मंत्रों से व्यापार में उन्नति एवं आर्थिक सफलता प्राप्त होती। मां लक्ष्मी की कृपा आप पर हमेशा बनी रहती है।

अक्षय तृतीया 2018 का शुभ मुहूर्त

अक्षय तृतीया पूजन का शुभ मुहूर्त = 05:56 से 12:20 तक।
मुहूर्त की अवधि = 6 घंटा 23 मिनट

अक्षय तृतीया पूजन विधि

  • अक्षय तृतीया के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लें। इसके बाद किसी लक्ष्मी मंदिर में जाकर देवी को कमल के पुष्प चढ़ाएं और सफेद रंग की मिठाई का भोग लगाएं। मां से प्रार्थना करें ऐसा करने से मां जल्द ही आपकी मनोकामना पूरी करेंगी।
  • अक्षय तृतीया के दिन शाम को मां लक्ष्मी की पूरे विधि-विधान से पूजा करें। पूजा के बाद मां के चरणों में सात लक्ष्मीकारक कौड़ियां रखें। आधी रात गुजर जाए तो इसे घर के किसी कोने में गाड़ दें। ऐसा करने से घर में लक्ष्मी की वृद्धि होती है।
  • अक्षय तृतीया के दिन अगर महालक्ष्मी यंत्र की विधिपूर्वक पूजा कर इसकी स्थापना की जाए तो कम समय में ज्यादा धन वृद्धि की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। इस यंत्र के प्रयोग से दरिद्रता का नाश होता है।
  • लक्ष्मी जी का पूजन करते समय पुराने चांदी के सिक्के और रुपयों के साथ कौड़ी भी रखें। पूजा के समय केसर और हल्दी का उपयोग जरूर करें। पूजा समाप्त होने के बाद सिक्कों रुपयों और कौड़ी को तिजोरी में रखने से बरकत होती है।
  • अक्षय तृतीया के दिन गाय के घी का दीपक घर ईशान कोण में जलाएं लेकिन ध्यान रहे कि दीपक में रुई की बाती की जगह लाल रंग के धागे का उपयोग हो। दीपक में थोड़ी केसर भी डाल लें। यह उपाय धन लाभ में सहायक होता है।

Loading...