1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. AKTU ने आर्थिक रूप से कमजोर टीबी रोग से ग्रसित बच्चों को पोषण किट व कम्बल वितरित

AKTU ने आर्थिक रूप से कमजोर टीबी रोग से ग्रसित बच्चों को पोषण किट व कम्बल वितरित

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (AKTU)  में गुरुवार को विश्वविद्यालय के अधिकारियों द्वारा गोद लिए गए आर्थिक रूप से कमजोर टीबी रोग से ग्रसित बच्चों को पोषण किट एवं कम्बल वितरित किए गए।एकेटीयू (AKTU) के कुलपति प्रो विनीत कंसल ( Vice Chancellor Prof. Vineet Kansal) ने गोद लिए गए 08 बच्चों को पोषण किट एवं कम्बल वितरित किये। इन बच्चों को प्रो विनीत कंसल, नंद लाल सिंह, कुलसचिव, प्रो. अनुराग त्रिपाठी, परीक्षा नियंत्रक, प्रो अरुणिमा वर्मा, एसओ-डीन पीजी, प्रो. ओपी सिंह, डीन एसडब्ल्यू, डीसी मिश्रा, एसएस सोम, उप परीक्षा नियंत्रक, डॉ. आशुतोष द्विवेदी, उप परीक्षा नियंत्रक ने गोद लिया गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (AKTU)  में गुरुवार को विश्वविद्यालय के अधिकारियों द्वारा गोद लिए गए आर्थिक रूप से कमजोर टीबी रोग से ग्रसित बच्चों को पोषण किट एवं कम्बल वितरित किए गए।

पढ़ें :- Technical Education से जुड़े विद्यार्थी शोध और नवाचार के कार्य भी सम्पादित करें : जितिन प्रसाद

एकेटीयू (AKTU) के कुलपति प्रो विनीत कंसल ( Vice Chancellor Prof. Vineet Kansal) ने गोद लिए गए 08 बच्चों को पोषण किट एवं कम्बल वितरित किये। इन बच्चों को प्रो विनीत कंसल, नंद लाल सिंह, कुलसचिव, प्रो. अनुराग त्रिपाठी, परीक्षा नियंत्रक, प्रो अरुणिमा वर्मा, एसओ-डीन पीजी, प्रो. ओपी सिंह, डीन एसडब्ल्यू, डीसी मिश्रा, एसएस सोम, उप परीक्षा नियंत्रक, डॉ. आशुतोष द्विवेदी, उप परीक्षा नियंत्रक ने गोद लिया गया है।

विश्वविद्यालय के कुलसचिव नंद लाल सिंह (University Registrar Nand Lal Singh) ने बताया कि टीबी ग्रसित समस्त बच्चों की समय-समय पर काउन्सलिंग भी करवाई जाएगी। साथ ही समय-समय पर पोषण के लिए आवश्यक सामग्री भी उपलब्ध करवाना सुनिश्चित किया जाएगा।

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. कंसल ने बताया कि AKTU सामाजिक उत्थान एवं पुनर्वास के लिए प्रतिबद्धता से कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसे बच्चों के पुनर्वास के लिए AKTU हमेशा कार्य करता रहेगा।

पढ़ें :- IET डायरेक्टर प्रो.विनीत कंसल को मिला AKTU कुलपति का चार्ज
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...