HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Alert : Cyclone Tauktae इन राज्यों में मचा सकता है भारी तबाही, अगले कुछ घंटों में और खतरनाक होने की आशंका

Alert : Cyclone Tauktae इन राज्यों में मचा सकता है भारी तबाही, अगले कुछ घंटों में और खतरनाक होने की आशंका

अरब सागर के ऊपर बना दबाव का क्षेत्र अब चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ में तब्दील हो गया है। इसके 18 मई के आसपास पोरबंदर और नलिया के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना है। अगले कुछ घंटों में इसके और खतरनाक होने की आशंका जाहिर की है।मौसम विभाग ने बताया कि ‘तौकते’ 16 से 18 मई के बीच अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में रहेगा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। अरब सागर के ऊपर बना दबाव का क्षेत्र अब चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ में तब्दील हो गया है। इसके 18 मई के आसपास पोरबंदर और नलिया के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना है। अगले कुछ घंटों में इसके और खतरनाक होने की आशंका जाहिर की है।

पढ़ें :- UPSC में एक IAS की भर्ती का घपला सरेआम सामने आने के बाद त्यागपत्र देना कोई समाधान नहीं है: अखिलेश यादव

मौसम विभाग ने बताया कि ‘तौकते’ 16 से 18 मई के बीच अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में रहेगा। साथ ही कर्नाटक के लिए अगले 24 घंटे में तूफान की चेतावनी जारी की है. अरब सागर से उठ रहा चक्रवाती तूफान केरल, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक और गोवा जैसे राज्यों में कहर बरपा सकता है। वहीं चक्रवात के चलते केरल के कई हिस्सों में भारी बारिश और आंधी तूफान की स्थिति बनी हुई है। कोच्चि में अचानक बाढ़ से हालात हो गए हैं। कई जगहों पर जलभराव हो गया है। चेलेनम, कन्नमाली, मनस्सेरी और एडवानक्कड़ में घरों में पानी घुस गया है।

अगले 12 घंटे में ‘अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान’ में होगा तब्दील

आईएमडी के अनुसार, तौकते के अगले छह घंटे के दौरान ‘भीषण चक्रवाती तूफान’ में परिवर्तित होने की काफी संभावना है और फिर अगले 12 घंटे में इसके ‘अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान’ में बदलने की संभावना है। इसके उत्तर-उत्तर-पश्चिमी दिशा की तरफ बढ़ने और लगभग 18 मई को शाम के समय पोरबंदर तथा नलिया के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना है।

पीएम मोदी ने की महत्वपूर्ण बैठक

पढ़ें :- मुंबई में चार मंजिला इमारत की बालकनी गिरने से हादसा, एक महिला की मौत, तीन लोग घायल

तूफान तौकते को लेकर केन्द्र सरकार काफी गंभीर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवाती ‘तौकते’ से निपटने के लिए की गईं तैयारियों की समीक्षा करने के लिए एक महत्वपूर्ण बैठक की है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने चक्रवात के मद्देनजर राहत व बचाव कार्य के उद्देश्य से अपनी टीमों की संख्या 53 से बढ़ाकर 100 कर दी है।

केंद्र और तटीय राज्यों की सरकारें तैयारियों में जुटी

केंद्र और तटीय राज्यों की सरकारें चक्रवात से निपटने की तैयारी में जुटी हुई हैं।गोवा में सरकार ने चक्रवात के मद्देनजर आवश्यक कदम उठाए हैं। महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के तटीय जिलों के अधिकारियों को सतर्क रहने और स्थिति से निपटने के लिए निर्देश दिए हैं। केंद्रीय जल आयोग ने भी चक्रवात को लेकर केरल के मध्य एवं उत्तरी हिस्सों, दक्षिण तटीय साथ ही कर्नाटक के दक्षिण तटवर्ती क्षेत्रों के लिए अलर्ट जारी किया है।

राजस्थान में भी दिखेगा ‘तौकते’ का असर

चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ का असर राजस्थान में 16 मई से नजर आना शुरू हो जाएगा। पिछले 6 घंटों में दक्षिण पूर्वी अरब सागर की खाड़ी में बना चक्रवाती तूफान 11 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से उत्तर उत्तर पश्चिमी दिशा में आगे बढ़ा है। राजस्थान में 18-19 मई को इस तूफान का सर्वाधिक असर देखने को मिल सकता है। इस दौरान जोधपुर, बाड़मेर, जालौर, जैसलमेर सहित कई जिलों में कहीं-कहीं भारी से भारी बारिश होने के आसार है। इसी के साथ नागौर, बीकानेर, चूरू, अजमेर, सिरोही जयपुर, भरतपुर में कहीं मध्यम से भारी बारिश हो सकती है।

पढ़ें :- ​हरियाणा चुनाव को लेकर सुनीता केजरीवाल ने लॉन्च की AAP की पांच गांरटी, मुफ्त बिजली समेत किए ये वादे

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...